ALL Rajasthan
v
May 15, 2020 • Rajkumar Gupta

जयपुर. राजस्थान में कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। शुक्रवार को 154 नए पॉजिटिव केस सामने आए। इनमें कोटा में 48, उदयपुर में 38, पाली में 13, जोधपुर में 12, जयपुर में 11, जालौर में 5, राजसमंद और सीकर में 3-3, जैसलमेर, अजमेर और चूरू में 2-2, चित्तौड़गढ़, बाड़मेर, झुंझुनू, करौली, दौसा, डूंगरपुर, बारां, भरतपुर में 1-1 संक्रमित मिला। साथ ही बीएसएफ के 6 जवान भी संक्रमित मिले। वहीं, मध्यप्रदेश का एक व्यक्ति भी पॉजिटिव मिला। जिसके राज्य में कुल पॉजिटिव का आंकड़ा 4688 पहुंच गया। 

इससे पहले गुरुवार को 206 नए मामले सामने आए। इनमें उदयपुर में 59, जोधपुर में 36, जालौर में 22, जयपुर में 20, नागौर में 17, सिरोही और बाड़मेर में 8-8, सीकर और अजमेर में 7-7, पाली और झुंझुनू में 5-5, राजसमंद और चूरू में 4-4, करौली, डूंगरपुर, अलवर और कोटा में 1-1 संक्रमित मिला।

33 में से 31 जिलों में पहुंचा कोरोना
प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 1375 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 1014 (इनमें 47 ईरान से आए), कोटा में 318, अजमेर में 244, उदयपुर में 354, टोंक में 144, चित्तौड़गढ़ में 143, नागौर में 156, भरतपुर में 122, बांसवाड़ा में 68, पाली में 113, जालौर में 69, जैसलमेर में 57 (इनमें 14 ईरान से आए), झालावाड़ में 47, झुंझुनूं में 53, भीलवाड़ा में 43, बीकानेर में 40, मरीज मिले हैं। उधर, दौसा में 29, धौलपुर में 24, अलवर में 33, चूरू में 33, राजसमंद में 33, सिरोही में 22, डूंगरपुर में 15, हनुमानगढ़ में 12, सीकर में 22, सवाई माधोपुर में 16, बाड़मेर में 17, करौली में 9, प्रतापगढ़ में 4 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। बारां में 4 संक्रमित मिले हैं। जोधपुर में बीएसएफ के 49 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 6 लोग पॉजिटिव मिले।

अब तक 125 लोगों की मौत

राजस्थान में कोरोना से अब तक 125 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में 67 (जिसमें चार यूपी से), जोधपुर में 17, कोटा में 10, अजमेर में 5, पाली और नागौर में 3-3, करौली, अलवर, बीकानेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, सीकर और भरतपुर 2-2, जालौर, बांसवाड़ा, चूरू, प्रतापगढ़, सवाई माधोपुर और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है।

 
डॉक्टर को दिखाने के लिए सिर्फ मरीज की एंट्री, मास्क जरूरी, हाथ कराएंगे सेनेटाइज

एसएमएस अस्पताल को एक जून से कोरोना फ्री करने की तैयारियों के बीच ओपीडी सिस्टम को भी बदलने की कवायद शुरू कर दी गई है। अब पहले की तरह भीड़ वाली ओपीडी नहीं होगी। डॉक्टर्स के चैंबर में एक से अधिक मरीज की एंट्री नहीं होगी और मुख्य गेट पर एक मरीज से दूसरे मरीज के बीच निर्धारित दूरियां रखी जाएंगी। यह सब कैसे किया जाएगा और किन नए नियमों को लागू किया जाए, इसके लिए अस्पताल अधीक्षक ने सभी विभागाध्यक्षों से सुझाव मांगे हैं और उनसे दो बार मैराथन मीटिंग भी की गई है। साथ ही मई माह के अंतिम सप्ताह तक आए सभी विचारों पर राय कर अंतिम निर्णय लिए जाएंगे।

लो फ्लोर में 50% यात्री ही बैठेंगे, मास्क भी जरूरी
जेसीटीएसएल ने लो फ्लोर बसों के संचालन के लिए गाइडलाइन तैयार कर ली है। हालांकि अभी प्रशासन को अब सरकार की हरी झंडी का इंतजार है। वहीं ड्राइवर-कंडक्टरों को भी कोरोना से सुरक्षित रहने और यात्रियों को सुरक्षित रखने के लिए ट्रेनिंग दी जा रही है। परिवहन विभाग ने ऑटो-रिक्शा, मिनी-प्राइवेट बसें, कार-टैक्सी की पब्लिक ट्रांसपोर्ट को लेकर अभी तक गाइडलाइन नहीं बनाई है। जेसीटीएसएल की ओर से बनाई गई गाइडलाइन में बस में थर्मल स्केनिंग के बाद ही यात्री बैठ सकेंगे। एक चक्कर के बाद बस को और तीन घंटे में बस स्टॉप सैनिटाइज किया जाएगा। यात्री को मास्क लगाना आवश्यक होगा और बसों में सीटों के 50 प्रतिशत यात्री ही बैठ सकेंगे। 

लॉकडाउन उल्लंघन पर अब तक 1042 गिरफ्तार और 16559 वाहन जब्त

लॉकडाउन उल्लंघन में जयपुर पुलिस ने 1042 लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही 16559 वाहन जब्त कर चुकी। पुलिस ने आपदा प्रबंधन व महामारी एक्ट के तहत 437 प्रकरण दर्ज कर लिए जिनमें ज्यादा बिना अनुमति दुकानें वाले गारमेन्ट, ज्वैलर्स, बैगर्ल्स, फ्लावर डेकोरेशन व हेयर ड्रेसर दुकानदार शामिल हैं। लॉकडाउन की पालना व लोगों की निगरानी के लिए पुलिस ने शहर में दिन के समय 448 व रात के समय 118 जगह नाकाबंदी प्वाईंट लगा रखे हैं।