ALL Rajasthan
 गरीबी व मजबूरी का फायदा उठाकर पार्षद करता रहा दो साल तक युवती का देह शोषण
April 18, 2020 • Rajkumar Gupta

झुन्झुनू,सूरजगढ़ पार्षद ने अपने पद व पहुंच के रोब के चलते किया गरीबी से खिलवाड़ बटाई पर खेती करने वाले एक गरीब परिवार की इज्जत को किया तार-तार पिछले दो साल से युवती के साथ कर रहा था देहशोषण जब भी पिड़िता ने मुंह खोलने की कोशिश की तो दिखाई पद व पहुंच की धोंस ऐसा ही मामला सामने आया है सूरजगढ़ के वार्ड पांच के मौजूदा पार्षद रणधीर सिंह का जो अपने पड़ोस में रहने वाले एक गरीब परिवार की युवती का पिछले दो साल देह शोषण कर रहा था। पिडि़ता का परिवार मोई सद्दा गांव का रहने वाला है जो पिछले कई सालों से आरोपित के पड़ौस में स्थित एक कुएं पर बंटाई में फसल बुवाई का काम करता है। पड़ोसी होने के नाते एक दुसरे के घर आना जाना रहता था जिससे पिड़िता का परिवार उस पर घर के सदस्य की तरह विश्वास करने लगा। इसी विश्वास का फायदा उठाकर उसने पिड़िता को अपने जाल में फंसा लिया व उसके साथ घिनौनी हरकत करनी शुरू कर दी। पिड़ित परिवार पुलिस प्रशासन से न्याय की गुहार लगा रहा है।

 दो दिन तक रही घर से गायब


पिड़िता के पिता ने बताया कि मामले का खुलाशा होने से पहले मेरी बेटी दो दिन तक घर नही आई 5 अप्रेल शाम को जब वो घर नही आई तो मैने कस्बे में रहने वाली उसकी बुआ व घर पर जानकारी की लेकिन वहां पर भी नहीं पहुंची तो मेरी चिंता बढ़ गई। मैने पड़ोसी व वार्ड पार्षद होने के नाते रणधीर सिंह को मामले की जानकारी दी तो उसने साथ होकर ढुंढने का नाटक किया सबसे पहले अपने घर पर जाकर चैक किया कि कहीं मेरे घर पर तो छुपकर नहीं बैठी है। रात में गाड़ी लेकर दो चार जगह गए भी जिसमें रणधीर उनके साथ रहा दुसरे दिन भी दिनभर खोजबीन करते रहे कहीं से कोई सुचना नहीं मिली 7 अप्रेल को सुबह जब पिड़िता डरी सहमी अपनी बुआ के घर पहुंची तो परिजनों  के हौसला बंधाने पर उसने सारी घटना का खुलासा किया व परिजनों के साथ थानें पहुंचकर शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने पिड़िता की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर बोर्ड से मेडिकल करवाया व मामले की जांच शुरू की।


पिड़िता ने बताई आपबीती

जब इस बाबत पिड़िता से बात की तो उसने बताया कि रणधीर सिंह का शुरू से ही हमारे घर आना जाना था जिससे परिवार वाले उस पर बहुत ज्यादा विश्वास करते थे जिसका फायदा उठाकर उसने मेरी जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया। मैने जब भी घरवालों को बताने की कोशिश की तो वह कहता कि आपके घरवाले आपकी बात पर विश्वास नही करेगें और मै आपको गलत साबित कर दुगां जिससे समाज में आपकी बेज्जती होगी मै डर के रह जाती। दो दिन तक उसने मुझे अपने प्लॉट पर रखा जहां से वह अपनी गाड़ी से मुझे मेरी बुआ के घर तक छोड़कर आया और किसी के सामने भी मुंह नही खोलने की धमकी दी। मै तंग आ चुकी थी पहुंचकर मैने सारी बात मेरी बुआ को बताई।