ALL Rajasthan
 कोरोना काल / सिकराय में मिले दौसा सांसद जसकौर मीना के लापता होने के पोस्टर, उन्हें ढूंढ कर लाने वाले को 21 हजार रुपए देने की पेशकश की; भाजपा कार्यकर्ता ने कराया केस दर्ज
May 27, 2020 • Rajkumar Gupta

सिकराय.। कोरानावायरस से उपजे हालातों पर जहां राजनीतिक बयानबाजी जारी है वहीं राजस्थान में एक अजीबोगरीब मामला दर्ज हुआ है। दौसा जिले के सिकराय में बुधवार को पीले रंग के पोस्टर मिले जो चर्चा का विषय रहे। वहीं इनको लेकर बुधवार को थाने में मामला भी दर्ज हो गया। इन पोस्टर्स में दौसा की सांसद जसकौर मीणा को लापता बताया गया है तथा उन्हें यहां लाने वाले को 21 हजार रुपए नकद देने की बात कही गई है। 
दौसा सांसद जसकौर मीना।
दौसा सांसद जसकौर मीना।

भाजपा कार्यकर्ता तथा कोरोना महामारी मंडल प्रभारी रमेश चंद्र मीना ने मानपुर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। रिपोर्ट में कहा है कि सिकराय की पुरानी तहसील के सामने बाजार में एक पीले रंग का पर्चा मिला जिस पर सांसद जसकौर मीना का फोटो छपा है। पर्चे पर गुमशुदा की तलाश, लापता के साथ लिखा है कि कोरोना महामारी के संकट में दौसा लोकसभा क्षेत्र की जनता ढूंढ रही है। जो इस सांसद को दौसा लोकसभा क्षेत्र में लाएगा उसे 21 हजार रुपए नकद एवं जो भी उनका पता बताएगा उसको 11 हजार रुपए नकद इनाम दिया जाएगा। पर्चे में नीचे निवेदक आम जनता दौसा लिखा है।

सांसद की छवि धूमिल करने को लेकर मामला दर्ज किया
रिपोर्ट में कहा है कि उक्त पर्चा हमारी पार्टी की भावना को ठेस पहुंचाने की नियत से डाला गया है। इससे भाजपा कार्यकर्ताओं में भारी रोष व्याप्त है। इससे सांसद के मान-सम्मान को भी ठेस पहुंची है अत: उक्त पर्चा डालने वाले लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करें। पुलिस ने पार्टी और सांसद की छवि धूमिल करने को लेकर मामला दर्ज किया है।

बड़ा सवाल दो-तीन पर्चे ही क्यों मिले 
जानकारी के अनुसार आस-पास दो-तीन स्थानों पर ये पर्चे मिले हैं। पर्चे जमीन पर मिले। इन्हें चिपकाया भी नहीं गया। कोई केवल दो-तीन पर्चे ही कैसे छपवा सकता है। ऐसे में सवाल उठता है कि ऐसी भी संभावना है कि लोग सुबह घूमने आएं हों तो वे और पर्चे अपने साथ ले गए हों। पुलिस मामले की जांच कर रही है।