ALL Rajasthan
 राजस्थान में 53 दिनों में संक्रमितों की संख्या दो हजार पार हुई, कोटा में पॉजिटिव महिला ने स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया
April 24, 2020 • Rajkumar Gupta


कोटा के अस्पताल में बच्चे के साथ नर्स। मां पॉजिटिव है, इसलिए बेटे को अलग रखा गया है।

जयपुर. जयपुर. राजस्थान में शुक्रवार सुबह 44 नए केस सामने आए। इनमें सबसे ज्याद कोटा में 18, जयपुर में 21, झालावाड़ में 4 और भरतपुर में एक संक्रमित मिला। इसके साथ, राज्य में 53 दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या 2008 हो गई। पहला केस 3 मार्च को जयपुर में सामने आया था। इसके बाद 1 अप्रैल को आंकड़ा 120 हो गया। फिर 14 अप्रैल को प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 1005 तक पहुंच गई।

जयपुर में शुक्रवार को तीन मौतें सामने आईं। 75 साल के एक बुजुर्ग की मौत के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिले के जमवारामगढ़ के रहने वाले बुजुर्ग को 13 अप्रैल को जयपुर के सवाईमान सिंह हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था। उनकी पहली रिपोर्ट निगेटिव आई थी। आशंका होने पर डॉक्टरों ने दोबारा सैंपल जांच के लिए भेजे। रिपोर्ट से पहले 22 अप्रैल को उनकी मौत हो गई। इसी तरह, एमडी रोड पर रहने वाले 60 साल के व्यक्ति की 23 अप्रैल को मौत हो गई थी, वे एसएसएस की इमरजेंसी में भर्ती थे। आज उनकी पॉजिटिव रिपोर्ट आई। प्रदेश में 31वीं मौत भी जयपुर में हुई। यहां आदर्श नगर में रहने वाली 75 साल की महिला की कोरोना संक्रमण से जान गई।

इस बीच कोटा से अच्छी खबर आई। यहां कोराना संक्रमित मां ने नवजात को जन्म दिया। 21 अप्रैल को डॉक्टरों ने ऑपरेशन से महिला की डिलीवरी कराई थी। मां पॉजिटिव है, इसलिए बेटे को अलग रखा गया है। लेकिन नवजात को बाकायदा एक अलग कमरा दिया है। इसके साथ परिवार की दो महिलाओं को भी रहने की अनुमति मिली है।

गहलोत बोले- कोटा में पढ़ रहे छात्र अब लौटने लगे
सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि कोटा में पढ़ रहे छात्र अपने घरों के लिए लौटने लगे हैं। पांच राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के करीब 18 हजार स्टूडेंट्स कोटा से अपने-अपने घर पहुंच चुके हैं। शनिवार को हिमाचल प्रदेश के 100, राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों के 500 बच्चे बसों के जरिए और 300 बच्चे अपने निजी साधनों से घर जाएंगे। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन की घोषणा के बाद से कोटा में 40 हजार छात्र फंस गए थे।