ALL Rajasthan
3 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन, आईपीएल-13 के आयोजन पर फिर उठे सवाल
April 14, 2020 • Rajkumar Gupta

नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला किया जिसके बाद क्रिकेट प्रेमियों के मन में सवाल उठने लगा कि अब इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का क्या होगा। आईपीएल को आयोजकों और फ्रैंचाइजियों से विचार-विमर्श के बाद 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया गया था लेकिन अब 3 मई तक देश में लॉकडाउन है, ऐसे में आईपीएल के 13वें एडिशन के आयोजन पर भी सवालिया चिन्ह लग गया।

देशव्यापी लॉकडाउन अगले महीने तक बढ़ाए जाने के बाद इस महीने तो क्या मई में भी IPL का होना संभव नहीं लग रहा है। आईपीएल के 13वें एडिशन की शुरुआत 29 मार्च से होनी थी लेकिन कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसे टाल दिया गया। अब सोशल मीडिया पर क्रिकेट प्रेमी सवाल पूछ रहे हैं कि अब आईपीएल का क्या होगा?
15 अप्रैल तक इसे स्थगित किए जाने के बाद यह माना जा रहा था कि यदि हालात सुधरते हैं तो इसे अप्रैल-मई में कराया जा सकता है लेकिन कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या देश में लगातार बढ़ रही है। ऐसे में स्टेडियम में दर्शकों को लाना या इसका आयोजन खतरे से खाली नजर नहीं आता।सरकार पहले से ही सोशल डिस्टैंसिंग बनाए रखने की अपील कर रही है। वहीं, कुछ राज्यों ने तो लॉकडाउन पहले ही बढ़ा दिया था। मुंबई, दिल्ली जैसे बड़े शहरों में हालात फिलहाल काफी खराब हैं।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने इससे पहले कहा था कि फिलहाल आईपीएल के भविष्य को लेकर फैसला लेने की स्थिति में बोर्ड नहीं है। उन्होंने इस प्रतिष्ठित लीग को टूर्नमेंट अक्टूबर-नवंबर में आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप की जगह कराने पर कहा, 'अभी इस बारे में कुछ भी बोलना जल्दबाजी होगा।'उन्होंने कहा था कि सरकार की ओर से फैसला आने के बाद ही ताजा हालात की समीक्षा करके कोई निर्णय लिया जा सकता है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि बीसीसीआई पदाधिकारी लगातार संपर्क में हैं। सिर्फ आईपीएल ही नहीं काफी प्रशासनिक और कानूनी काम भी बाकी है।

ऐसी भी अटकलें हैं कि आईपीएल अक्टूबर-नवंबर में हो सकता है। धूमल ने कहा, 'मुझे एक बात बताइए। अगर ऑस्ट्रेलिया में छह महीने के लिए लॉकडाउन है तो वे अपने खिलाड़ियों को अगले महीने आने की अनुमति कैसे देंगे? यात्रा पर पाबंदियां जारी रहने पर क्या होगा। यह नहीं भूलना चाहिए कि बाकी बोर्ड से भी रजामंदी लेनी होगी।'

उन्होंने कहा, 'भारत में लॉकडाउन खत्म होने पर भी कुछ बड़े शहर कोविड-19 हॉटस्पॉट रहते हैं तो क्या हम अपने खिलाड़ियों की जान जोखिम में डालेंगे। फिर खिलाड़ी महीनों तक अभ्यास के बिना कैसे खेलेंगे।'