ALL Rajasthan
भाजपा के कुछ नेता सहयोग के बजाए राजनीति करने पर उतारू=चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा
April 16, 2020 • Rajkumar Gupta


रामगंज क्षेत्र का दौरा करने भी पहुंचे थे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा।
जयपुर. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने गुरुवार को कहा कि देश एकजुट होकर इस महामारी के खिलाफ लड़ रहा हैं। वहीं राजस्थान में भाजपा के कुछ नेता सहयोग करने के बजाए पोलराइजेशन की राजनीति करने पर उतारू हैं। ऐसे वक्त में ऐसी राजनीति बेहद शर्मनाक है।

शर्मा ने बताया- उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि राज्य में 6 करोड़ लोगों की स्क्रीनिंग के आंकडे ही झूठे हैं। राठौड़ ने तमाम चिकित्सा और स्वास्थ्यकर्मियों के मनोबल को तोड़ने और उनका मजाक बनाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि अपनी जान जोखिम में डालकर स्वास्थ्यकर्मियों ने प्रदेशभर में 6 करोड़ से ज्यादा लोगों की स्क्रीनिंग करने का काम किया है। 

1 लाख से ज्यादा क्वारैंटाइन बैड की व्यवस्था की गई

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार ने 1 लाख से ज्यादा क्वारैंटाइन बैड की व्यवस्था संदिग्धों और संक्रमितों के लिए की है। सरकार घरों से भी क्वारैंटाइन की अच्छी सुविधा उपलब्ध करवा रही है। उन्होंने कहा कि उपनेता प्रतिपक्ष कभी भी रामगंज में आकर यहां काम कर रही चिकित्सा, प्रशासन और पुलिस की टीमों को देख सकते हैं। 

उनका यह बयान कि विपक्षी दलों को बुलाया नहीं गया बेहद हास्यास्पद है। कोरोना की राज्य में शुरुआत के वक्त ही मुख्यंमत्री ने 3 बार विपक्षी दलों को बुलाया था। नेता प्रतिपक्ष गुलाब कटारिया, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां, पूर्व चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ बैठक में उपस्थित रहे। उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ भी बैठक में आमंत्रित थे लेकिन शायद वे किसी पॉलीटिकल मिशन में दिल्ली व्यस्त थे। मुख्यमंत्री ने सभी विधायकों और अधिकारियों के साथ बैठकर बातचीत की थी।

चिकित्सा मंत्री ने कहा कि आज के दौर में सरकार को यह उम्मीद नहीं थी कि विपक्ष के जिम्मेदार नेता आमजन की मदद करने की बजाए राजनीति करने लगेंगे। उन्होंने कहा कि उपनेता प्रतिपक्ष को नेता प्रतिपक्ष गुलाब कटारिया से कुछ सीखना चाहिए।