ALL Rajasthan
चीन में कोरोना वायरस महामारी के मिले नए मरीजों से गंभीर संकेत मिलते दिखाई दे रहे हैं
May 21, 2020 • Rajkumar Gupta


चीन में कोरोना वायरस के मिले नए मरीजों से गंभीर संकेत  मिलते दिखाई दे रहे हैं। इन नए मरीजों में कोरोना वायरस बहुत अलग तरीके से व्‍यवहार कर रहा है जिससे पता चलता है कि यह वायरस लगातार अपने आपको बदल रहा है। इन नए मरीजों को ठीक होने में और ज्‍यादा समय लग रहा है और उनके अंदर लंबे समय तक कोरोना वायरस के विषाणु मौजूद हैं।

एक वरिष्‍ठ डॉक्‍टर ने बताया कि चीन के जिलिन और हेईलांगजिआंग इलाकों में मरीजों के अंदर ज्‍यादा लंबे समय कोरोना के वायरस मौजूद हैं। यही नहीं वुहान में जितना समय मरीजों को ठीक होने में लगता था, उससे कहीं ज्‍यादा इन नए मरीजों को लग रहा है। नैशनल हेल्‍थ कमिशन एक्‍सपर्ट ग्रुप के सदस्‍य क्‍यू हेइबो ने कहा कि मरीजों में बुखार के लक्षण बहुत कम आ रहे हैं। वायरस से उनके फेफड़ों का ज्‍यादा नुकसान पहुंच रहा है, बजाय कई अंगों के।

महामारी के सेकंड वेब आने का खतरा बढ़ गया
चीन के दो उत्‍तर पूर्वी प्रांतों में हाल के दिनों में कोरोना वायरस के नए मामले सामने आए हैं जिससे इस महामारी के सेकंड वेब आने का खतरा बढ़ गया है। हेइबो ने कहा कि वुहान से ज्‍यादा समय इन प्रांतों में मरीजों को ठीक होने में लग रहा है। इससे एक मरीज से दूसरे मरीज में वायरस के प्रसार का खतरा और ज्‍यादा बढ़ गया है। ऐसे लोग जब अपने परिवार के साथ होते हैं तो कोरोना का ख्‍याल नहीं रख रहे हैं जिससे पूरे परिवार में कोरोना का संक्रमण हो जा रहा है।

लॉस एलमोस नैशनल लेब्रोटरी के मुताबिक वायरस की कोई एक नस्‍ल और ज्‍यादा संक्रामक हो सकती है। उधर, ब्रिटेन के ग्‍लास्‍गो यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों के एक अन्‍य अध्‍ययन में पता चला कि वायरस में बदलाव तो आ रहा है लेकिन यह वायरस की दूसरी नस्‍ल के लक्षण नहीं हैं। संक्रामक रोगों के विशेषज्ञ जोनाथन स्‍टोये ने चेतावनी दी कि वायरस एक लगातार बदलने वाला टारगेट है। उन्‍होंने कहा कि वायरस लगातार विकसित हो रहा है और अपना रूप बदल रहा है। हम नहीं जानते हैं कि इसका क्‍या परिणाम होगा।

चीन में कोरोना वायरस के 16 नए मामले
चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के 16 नए मामले सामने आए हैं जिनमें से बिना लक्षण वाले 15 मामले वैश्विक महामारी का केंद्र रहे वुहान से हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि वुहान की 1.12 करोड़ की पूरी आबादी की कोरोना वायरस के लिए जांच की जा रही है और इसी प्रक्रिया के तहत नए मामले सामने आए हैं। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि मंगलवार को पांच मामलों की पुष्टि हुई और 16 ऐसे मामले सामने आए जिनमें बीमारी के लक्षण नहीं थे।

जिलिन प्रांत में स्थानीय स्तर पर संक्रमण के चार मामले सामने आए। मंगलवार तक जिलिन प्रांत में स्थानीय स्तर पर संक्रमण के 133 मामले आए जिनमें से दो लोगों की मौत हो गई और 106 लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। स्थानीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि अस्पताल में अब भी 25 मरीजों का इलाज चल रहा है जिनमें से तीन की हालत गंभीर है और सभी जिलिन शहर के हैं। साथ ही संक्रमित लोगों के संपर्क में आए 1,181 लोग निगरानी में हैं। मंगलवार को बिना लक्षण वाले 16 नए मामले सामने आए जिनमें से 15 मामले वुहान से हैं।

बिना लक्षण वाले 368 लोग निगरानी में
एनएचसी ने बताया कि 368 बिना लक्षण वाले लोग निगरानी में हैं। बिना लक्षण वाले मामलों को ज्यादा गंभीर माना जा रहा है क्योंकि इसमें व्यक्ति संक्रमित तो होता है लेकिन उनमें बुखार, खांसी या गले में सूजन जैसे कोई लक्षण नहीं दिखाई देते और उनसे दूसरों में संक्रमण फैलाने का खतरा अधिक रहता है। इस बीमारी से चीन में 4,634 लोगों की मौत हो चुकी है।