ALL Rajasthan
छुट्टी पर या टेंपरेरी ड्यूटी पर गए फौजी जॉइन करेंगे अपनी ड्यूटी, आर्मी ने दिया निर्देश
April 20, 2020 • Rajkumar Gupta


अब तक छुट्टी पर चल रहे या टेंपरेरी ड्यूटी पर गए फौजी अब अपनी ड्यूटी जॉइन करेंगे। इसके लिए इंडियन आर्मी ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इनके ड्यूटी जॉइन करने से अब तक बिना छुट्टी के लगातार काम कर रहे फौजियों को कुछ राहत मिलेगी। उन्हें फिर छुट्टी पर भेजा जा सकेगा।
जवान सीधे यूनिट रिपोर्ट करें
आर्मी ने छुट्टी पर गए, टेंपरेरी ड्यूटी कर रहे या फिर कोर्स कर रहे जवानों-अफसरों के लिए ड्यूटी जॉइन करने के निर्देश दिए हैं। उन्हें यह निर्देश उनकी यूनिट या फॉर्मेशन की तरफ से मिलेंगे जिनके निर्देश पर वह छुट्टी पर थे। निर्देश में कहा गया है कि जो अपनी ड्यूटी की जगह से 500 किलोमीटर के दायरे में ही छुट्टी पर थे वह प्राइवेट वीइकल का इस्तेमाल कर यूनिट में सीधे रिपोर्ट कर सकते हैं। जो 500 किलोमीटर के दायरे से बाहर हैं वह अपने नजदीकी यूनिट, या स्टेशन हेडक्वॉर्टर में रिपोर्ट करेंगे।

तीन श्रेणियों में बंटे जवान
आर्मी ने सभी जवानों और अफसरों को ग्रीन, यलो और रेड कटैगरी में बांटा जाएगा। ग्रीन कटैगरी में वह हैं जिन्होंने 14 दिन का क्वारंटीन पीरियड पूरा कर लिया है। यलो में वह लोग जिन्हें 14 दिन के क्वारंटीन में जाने की जरूरत है और रेड कटैगरी में वह लोग जिन्हें खांसी-जुकाम जैसे लक्षण हैं जिसकी वजह से उन्हें आइसोलशन में रहना है और फिर इलाज कराना है।

क्वारंटीन में रहेंगे बाहर से आने वाले जवान
जो लोग भी छुट्टी, टेंपरेरी ड्यूटी या कोर्स कर लौटेंगे उन्हें यलो कटैगरी में माना जाएगा और उन्हें 14 दिन का क्वारंटीन करना होगा। यह क्वारंटीन पीरियड वह अपने स्टेशन या यूनिट में पूरा करेंगे। जिसके बाद वे ड्यूटी पर तैनात होंगे। ड्यूटी तक जाने के लिए इन्हें आर्मी वीइकल या स्पेशल ट्रेन से ही सफर करना होगा। अगर कोई मिलिट्री अथॉरिटी के सुपरविजन में मूवमेंट नहीं करता है तो उसे फिर यलो कटैगरी में माना जाएगा और फिर 14 दिन का क्वारंटीन करना होगा।

500 किमी के दायरे वाले जवानों को प्राथमिकता
सबसे पहले उन्हें ड्यूटी जॉइन कराई जाएगी जो 500 किलोमीटर के दायरे में ही छुट्टी या टेंपरेरी ड्यूटी पर हैं। नॉर्दन कमांड के तहत आने वाले जवान-अफसर, आर्मी मेडिकल कोर, आर्मी डेंटल कोर और मिलिट्री नर्सिंग सर्विस के लोगों को सबसे पहले ड्यूटी जॉइन कराई जाएगी। दूसरे नंबर पर ईस्टर्न कमांड के तहत लोग और ऑफिसर्स, अहम अपॉइंटमेंट्स पर तैनात लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी।

नेपाली मूल के फौजियों के लिए अलग निर्देश
आर्मी ने अपने दिशानिर्देश में कहा है के जो फौजी नेपाल से हैं और अभी छुट्टी पर हैं वह तब तक अपने होम स्टेशन में ही रहें जब तक नेपाल में स्थिति ठीक नहीं हो जाती और सरकार बॉर्डर नहीं खोलती। ड्यूटी जॉइन करने के ये दिशा निर्देश उन जगहों पर लागू नहीं होंगे जो हॉटस्पॉट हैं। वहां सबको पूरी तरह लॉकडाउन का पालन करना होगा।