ALL Rajasthan
दिल्ली: सड़क पर सिर्फ 1 पर्सेंट वाहन, फिर भी 32 हजार ओवर स्पीड चालान
April 17, 2020 • Rajkumar Gupta

नई दिल्ली
लॉकडाउन की वजह से सड़कों पर महज कुल वाहनों का एक प्रतिशत ही वाहन चल रहे हैं। उसके बावजूद दिल्ली में ओवर स्पीडिंग के मामले सामने आ रहे हैं। पिछले 21 दिनों में, जब से प्रतिबंध लगाए गए, दिल्ली पुलिस ने 32,778 चालान जारी किए हैं। ध्यान रहे ये आंकड़ा जब है कि सड़कों पर कुल वाहन की मात्रा का केवल 1% होने के बावजूद है। लगभग 90% उल्लंघनकर्ता निजी कार चालक पाए गए।

लॉकडाउन के कारण राजधानी दिल्ली सड़कों पर लगभग 10 लाख वाहनों के बाहर होने पर बावजूद 38,000 चालान प्रतिदिन जारी किए जाते हैं। पुलिस ने कहा कि अब यह लोगों के लिए एक प्रवृत्ति बन गई है कि वे बाजार जाते समय भी तेज गति से वाहन चलाते हैं। ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन ज्यादातर रिंग रोड और आउटर रिंग रोड जैसी जगहों पर ज्यादा हो रहा है। दोपहर तीन बजे और रात 10बजे के बीच सबसे ज्यादा चालान किए जाते हैं क्योंकि यह वह समय है जब अधिक लोग आवश्यक वस्तुएं खरीदने के लिए बाहर निकलते हैं।

पुलिस अधिकारी न होने पर दौड़ाते हैं वाहन
पुलिस ने कहा कि अगर गाड़ी चालक सड़क पर किसी ट्रैफिक अधिकारी को खड़ा नहीं देखते तो वो हाई स्पीड ड्राइव करने लगते हैं। उन्होंने कहा, 'हम ऐसे स्पीडर्स को सूचित करना चाहेंगे कि ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन कैमरों द्वारा कैद किया जा रहा है और एक ऑटोमैटिक सिस्टम से चालाना सीधे उनके घरों पर पहुंच जाता है। एक नए अधिकारी ने कहा कि उल्लंघन के एक पखवाड़े के भीतर नए एमवी अधिनियम के तहत नोटिस जारी किए जाएंगे। लोगों को सलाह दी गई है कि वे किसी भी ट्रैफिक पुलिस कार्यालय का दौरा न करें और ऑनलाइन चालान का भुगतान करें।

रुक गए सड़क हादसे
हालांकि सड़कों पर वाहनों की आवाजाही पर रोक लगने के कारण सड़क हादसों में भारी गिरावट दर्ज की गई है। लॉकडाउन अवधि के दौरान रिपोर्ट की गई कुछ दुर्घटनाएं सभी हिट थीं और तेज गति के कारण हुईं। लॉकडाउन वाले दिन से अब तक 21 दिनों में दस सड़क मौतें दर्ज की गईं।