ALL Rajasthan
हमने कभी भी मजदूरों से ट्रेन का किराया लेने की बात नहीं कही, 85% केंद्र और 15% राज्य सरकारों को वहन करना है
May 4, 2020 • Rajkumar Gupta

नई दिल्ली. केंद्र सरकार कोरोनावायरस के हालात पर रोज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी देती है। सोमवार को स्वास्थ्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि अब तक 11 हजार 706 लोग ठीक हुए हैं। रिकवरी रेट 27.52% हो गया है। 28 अप्रैल को यह 23.8% था। राहत के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग में अगर सही ढंग से इसका पालन न हो तो संक्रमण फैलने का डर है।

अग्रवाल के मुताबिक, कंटेनमेंट जोन और इसके बाहर भी हमें सभी तरह की सावधानी बरतनी है। जहां राहत दी गई है, वहां भीड़-भाड़ से बचें। लॉकडाउन में हमें अपनी सामाजिक जिम्मेदारी समझनी होगी।  

मजदूरों की हरसंभव मदद करेंगे
अग्रवाल के मुताबिक, हमने कभी भी किसी मजदूर से किराया लेने की बात नहीं कही। किराए का 85% केंद्र सरकार और 15% राज्य सरकार को वहन करना है। रेलवे और राज्य सरकारों ने आपस में विचार विमर्श करने के बाद ट्रेनें चलाने का फैसला किया है। 

टेस्टिंग लगातार बढ़ रही
लव अग्रवाल ने बताया कि लगातार स्थिति में सुधार कर रहे हैं। देश में टेस्टिंग से जुड़ा कोई मुद्दा नहीं है। कल भी 57 हजार 774 टेस्ट हुए। 1 अप्रैल को 70 हजार टेस्ट हुए थे। राज्यों की मदद के लिए 20 टीमें भी भेजी हैं। जिन राज्यों में ज्यादा मामले आ रहे हैं, वहां पर कम करने की पूरी कोशिश हो रही है।

आरोग्य सेतु मित्र ऐप लॉन्च होगा
एमपावर ग्रुप ने बताया अब तक 9 करोड़ लोगों ने आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड किया है। अब आरोग्य सेतु मित्र ऐप लॉन्च होगा। इसमें टेलीमेडिसिन की जानकारी दी जाएगी। हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद ले रहे हैं। इस तकनीक से हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों को कम समय में पहचान करने और उन तक सही समय से मदद पहुंचाने में मदद मिलेगी।

12 हजार शिकायतों पर कार्रवाई की

गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्यसलिला श्रीवास्तव ने बताया कि मंत्रालय का कंट्रोल रूम लगातार काम कर रहा है। 3 मई तक 12 हजार शिकायतों पर कार्रवाई की गई। आर्थिक व्यवस्था को गति प्रदान करने के लिए माल ढोने वाली गाड़ियों की आवाजाही जाने की अनुमति है। अगर उन्हें दिक्कत होती है तो वे गृह मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर 1930 पर कॉल कर सकते हैं। या नेशनल हाइवे पर होने के दौरान 1033 पर सहायता के लिए कॉल कर सकते हैं।
श्रीवास्तव के मुताबिक, ब्यूरो ऑफ पुलिस रिसर्च एंड डेवलपमेंट के सुझाव से सभी सुरक्षाबलों को निर्देश जारी किया है। उन्हें बताया है कि काम करते समय किस तरह की सावधानी बरतनी चाहिए। जेलों के लिए भी एसओपी और दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

उन्होंने यह भी बताया कि सामाजिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक आयोजनों पर फिलहाल प्रतिबंध है। धार्मिक कार्यक्रम भी बंद रहेंगे। सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक निकलने पर प्रतिबंध रहेगा। रेड और ऑरेंज जोन के कंटेनमेंट जोन में सख्ती होगी। यहां जरूरी सामान की आपूर्ति के अलावा किसी प्रकार की गतिविधि नहीं होगी। रेड जोन में कंटेनमेंट के बाहर ऑटो, रिक्शा और इंटर डिस्ट्रिक्ट बसों के परिचालन पर रोक है। सलून भी नहीं खुलेंगे। हालांकि, आवासीय इलाके में स्थित दुकानें खुल सकेंगी।