ALL Rajasthan
हंदवाड़ा: छिपे थे आतंकी...घर में घुसे 5 जांबाज, शहादत देकर नागरिकों को छुड़ाया
May 3, 2020 • Rajkumar Gupta

श्रीनगर
जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा में भारतीय सेना ने एक बार फिर अदम्य साहस और बहादुरी की इबारत लिखी है। कायर आतंकी घर में छिपकर फायरिंग कर रहे थे। नापाक मंसूबे वाले इन आतंकियों ने घर में कई लोगों को बंधक बना लिया था। लेकिन इंडियन आर्मी के जवानों ने जान की परवाह नहीं करते हुए छिपे आतंकियों से जोरदार मोर्चा लिया। फायरिंग के बीच जांबाजों ने नागरिकों को घर से सुरक्षित निकालते हुए खुद को देश पर कुर्बान कर दिया।
नागरिकों को आजाद कराने के लिए ऑपरेशन
हंदवाड़ा के चांजमुल्ला इलाके में आतंकियों की मौजूदगी का खुफिया इनपुट मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने जॉइंट ऑपरेशन चलाया। इसमें सेना की राष्ट्रीय रायफल्स और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान शामिल हुए। नागरिकों को आजाद कराने के लिए सेना के कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज सूद, नायक राजेश और लांस नायक दिनेश घर में घुसे। पांच लोगों की इस टीम में जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक सब-इंस्पेक्टर शकील काजी भी शामिल थे।

टार्गेट एरिया में घुसकर आतंकियों से लिया मोर्चा
इन सभी लोगों ने टार्गेट एरिया (जहां आतंकी छिपे थे) में घुसकर आतंकियों का सामना किया। इस दौरान एक-एक करके घर में बंधक बनाए गए सभी नागरिकों को सुरक्षित निकाल लिया गया। भीषण गोलीबारी के बीच सेना के जांबाजों ने पहले नागरिकों को महफूज किया। इस रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान बहादुर जवानों को कई गोलियां लग गईं। इन जांबाजों में से एक शहीद कर्नल आशुतोष कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ अभियान में पहले भी कई बार बहादुरी दिखा चुके थे। उन्हें दो बार वीरता पदक मिल चुका था। कश्मीर घाटी में तैनात श्रेष्ठ कमांडिंग ऑफिसर्स में उनकी गिनती थी। भारतीय सेना के जांबाजों की जवाबी कार्रवाई में दो आतंकी ढेर हो गए।

जवाबी कार्रवाई में दो आतंकी ढेर
भारतीय सेना की तरफ से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है, 'नागरिकों को सुरक्षित निकालते हुए हमारे जवान आतंकियों की भारी फायरिंग की चपेट में आ गए। इस दौरान दो आतंकियों को मार गिराया गया। सुरक्षा बलों की टीम में शामिल दो आर्मी अफसर, दो जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक एसआई इस ऑपरेशन में शहीद हो गए।'

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जांबाजों को किया नमन
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शही जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया, 'मैं ऑपरेशन के दौरान शहीद जवानों और सुरक्षाकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों के साथ हैं। इन बहादुर शहीदों के परिजनों के साथ देश कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। हंदवाड़ा में हमारे जवानों की शहादत से गहरा दुख है। उन्होंने आतंकियों के खिलाफ जंग में अदम्य शौर्य का प्रदर्शन किया। हम उनके सर्वोच्च बलिदान और बहादुरी को कभी नहीं भूलेंगे।'

शनिवार को आई थी लापता होने की खबर
सेना के सूत्रों ने बताया था कि सुरक्षाबल के पांच जवान लापता हो गए हैं, क्योंकि उनसे संपर्क टूट गया है। सेना के सूत्रों ने बताया कि लापता पांच जवानों में दो अधिकारी भी शामिल हैं। इससे पहले खबर आई थी कि कुपवाड़ा जिले में शनिवार को चलाए गए आतंकवाद विरोधी अभियान के दौरान दो अधिकारियों सहित सुरक्षाबल के पांच जवान लापता हो गए। एनकाउंटर के दौरान जवान उस मकान के अंदर गए, जिसमें आतंकी छिपे हुए थे। इसके बाद से ही जवानों से संपर्क नहीं हो पा रहा था।