ALL Rajasthan
जल्दी एहतियात, लॉकडाउन और सतर्कता लाई रंग, कोरोना मुक्त होने की कगार पर केरल और तमिलनाडु
April 18, 2020 • Rajkumar Gupta

चेन्नै/तिरुवनंतपुरम
कोरोना की राष्ट्रव्यापी जंग में दक्षिण भारत के दो सबसे बड़े राज्य विजेता के रूप में उभरने लगे हैं। जिस केरल (Coronavirus in Kerala) में कोरोना का पहला केस सामने आया था, अब वहां ताजा मामलों में कोई खास बढ़ोतरी होती नहीं दिख रही है। इसके अलावा तमिलनाडु के भी कई हिस्सों में कोरोना के पॉजिटिव केसों का मिलना बंद हो गया है।
तमिलनाडु (Coronavirus Cases in Tamilnadu) में आम लोगों और स्वास्थ्यकर्मियों की मेहनत रंग लगाने लगी है और कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या से बेहद कम हो गई है।

सिंगल डिजिट में पहुंचे नए केस
राज्य सरकार के आंकड़ों के अनुसार, केरल में 11 से 17 अप्रैल के बीच कोरोना के सिर्फ 32 केस (New cases of corona) ही मिले हैं। इस अवधि में कोरोना के 129 मरीज ठीक हुए (Recovered Corona Patients in India) हैं, जिन्हें अस्पताल से छुट्टी गई है। सरकारी अधिकारी भी कहते हैं कि केरल की स्थितियां उस तरह से खराब नहीं हुई हैं, जिसका सरकार ने अनुमान लगाया था। सरकार का अनुमान था कि केरल में अप्रैल के मध्य तक कोरोना के कुल 500 मरीज हो जाएंगे, लेकिन इसके सापेक्ष अब तक कुल 395 मामले ही सामने आए। 
काम आया विदेशी यात्रियों को क्वारंटीन में रखना
इसके अलावा सरकार की ओर से हाई रिस्क वाले देशों से आने वाले लोगों को 28 दिन और लो रिस्क देशों के यात्रियों को 14 दिन के क्वारंटीन (Quarantine in Kerala) में रखने का फैसला भी रंग लाया है। ऐसा करने से केरल में मरीजों के डायरेक्ट कॉन्टैक्ट से होने वाले संक्रमण की संख्या कम हुई है। केरल में अब तक कोरोना के 395 केस रिपोर्ट किए गए हैं, जिसमें से 277 लोग विदेशों से आने वाले यात्री हैं। ऐसे में इन्हें शुरुआत में ही क्वारंटीन में रखने का फैसला करना बेहद कारगर हुआ है।

तमिलनाडु में स्थितियां सुधरीं
केरल के अलावा तमिलनाडु में भी स्थितियां सुधरी हैं। यहां भी इंन्फेक्शन के नए मामलों की अपेक्षा ठीक होने वाले लोगों की संख्या अधिक है। शुक्रवार को तमिलनाडु में कुल 56 नए मामले मिले हैं, जबकि 103 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर कोई विशेष स्थिति नहीं होती है तो तमिलनाडु जल्द ही कोरोना से मुक्त होने की दिशा में आगे बढ़ जाएगा।