ALL Rajasthan
केरल में हथिनी की मौत के मामले में तीन संदिग्ध हिरासत में, पूछताछ जारी
June 5, 2020 • Rajkumar Gupta

पलक्कड़
केरल के पलक्कड़ (Palakkad) जिले में गर्भवती हथिनी की मौत (Elephant death) के मामले में तीन संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। जांच टीमों की नजर तीन संदिग्धों पर है। इनसे पूछताछ की जारी है। उधर सोशल मीडिया पर दो आरोपियों की गिरफ्तारी का दावा किया जा रहा है। केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Pinarayi Vijayan) ने कहा कि घटना में दोषी पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

विजयन ने कहा कि घटना की जांच कर रही केरल पुलिस और वन विभाग की अपराध शाखा की टीम ने घटनास्थल का दौरा किया और सबूत जुटाए। न्याय काम करेगा और दोषियों को सजा मिलेगी। उन्होंने यह भी कहा कि केंद्रीय मंत्रियों सहित कुछ लोग घटना का इस्तेमाल राज्य की छवि खराब करने के लिए कर रहे हैं।

हथिनी की मौत पर देशभर में गुस्सा
केरल में हथिनी की मौत पर पूरे देश में लोगों में नाराजगी है। मामले में संज्ञान लेते हुए केंद्र ने भी राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की है। बता दें कि पिछले दिनों पलक्कड़ में एक गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खा लिया था जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी।वन विभाग के सूत्रों ने बताया कि 27 मई को हथिनी की मौत की घटना के संबंध में तीन संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है और दो अन्य संदिग्धों की तलाश की जा रही है। 
गवर्नर ने कहा- दिल दहलाने देने वाली घटना
राज्य के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने टि्वटर पर घटना को लेकर रोष जताया और कहा कि केरल और बाहर से हजारों याचिकाएं दायर की जा चुकी हैं और दिल दहला देने वाली इस घटना से उत्पन्न रोष को समझा जा सकता है। सोशल मीडिया पर घटना को लेकर लोग गुस्सा जता रहे हैं और दोषियों को कड़ा दंड देने की मांग कर रहे हैं। संदेह है कि 15 साल की हथिनी ने पटाखों से भरा अनानास खा लिया जो उसके मुंह में फट गया और एक हफ्ते बाद वेलियार नदी में उसकी मौत हो गई।

13 लाख लोगों ने मांगा न्याय
इस घटना पर दुनियाभर से लोग न्याय की मांग कर रहे हैं। वेबसाइट चेंज डॉट ओआरजी पर 24 घंटे में 927 लोगों ने पिटीशन डाली है। दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग के साथ 13 लाख से ज्यादा लोगों ने इन पिटीशन को समर्थन दिया है।

फेफड़ों में पानी भरने से हुई मौत
उधर, हथिनी की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट भी आ गई, जिसमें हथिनी की मौत का कारण फेफड़े में पानी भरना बताया गया है। हथिनी की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला है कि वह गर्भवती थी। पानी में डूबने की वजह से उसके शरीर के अंदर काफी पानी चला गया था, जिसके कारण फेफड़ों ने काम करना बंद कर दिया था। पोस्‍टमॉर्टम में पहली नजर में मौत का कारण यही बताया गया है। वन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी की माने तो पटाखों से भरा अन्नानास खाने से हुए विस्फोट में हथिनी का जबड़ा टूट गया था और वह कुछ भी चबा पाने में भी असमर्थ थी।