ALL Rajasthan
खतरे की घंटी / एक सप्ताह में करीब आठ सौ लोगों के संपर्क में आ चुका डॉक्टर खुद निकला कोरोना संक्रमित, प्रशासन के हाथ-पांव फूले
April 9, 2020 • Rajkumar Gupta
जोधपुर की जूनी मंडी के स्वास्थ्य केन्द्र का जिला कलेक्टर भी दौरा कर चुके है।

जोधपुर. शहर की जूनी मंडी क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर तैनात एक डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। कई दिन से कोरोना प्रभावित भीतरी शहर के इस स्वास्थ्य केन्द्र पर वे मरीजों की जांच करते हुए स्वयं संक्रमित हो गए। उनके संक्रमित होने से प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। दोपहर तक कोरोना वायरस जांच रिपोर्ट आने से पहले गुरुवार को ही वे करीब 100 मरीज देख चुके थे। इसके बाद संक्रमित होने की पुष्टि होते ही उन्हें एमडीएम अस्पताल ले जाया गया। बताया जा रहा है कि एक सप्ताह के भीतर वे करीब 800 लोगों के संपर्क में आ चुके है। इनमें से कई मरीज भी शामिल है।उनके पॉजिटिव आने के बाद करीब साढ़े चार बजे टीम उन्हें व उनके परिजनों को लेने घर पहुंची। डॉक्टर संयुक्त परिवार में रहते है। ऐसे में कुछ बच्चों सहित करीब 20 जनों को एमडीएम अस्पताल ले जाया गया है।शहर के नवचौकिया स्थित सैटेलाइट अस्पताल में तैनात एक डॉक्टर को नागौरी गेट क्षेत्र में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को ध्यान में रख जूनी मंडी में अस्थाई तौर पर तैनात किया गया। इस क्षेत्र में कोरोना के सर्वाधिक मरीज सामने आने पर घर-घर व्यापक स्तर पर सर्वे कराया जा रहा है। इस सर्वे में थोड़ा बहुत संदेह होते ही उस व्यक्ति को जूनी मंडी में जांच के लिए भेजा जा रहा है। इन सभी लोगों की जांच पॉजिटिव पाए गए डॉक्टर ही कर रहे थे। उनके यहां से कई लोगों के सैंपल लेकर एमडीएम अस्पताल भेजे गए। एक सप्ताह में वे करीब आठ सौ लोगों के संपर्क में वे आ चुके थे। इस दौरान किसी कोरोना संक्रमित के संपर्क में आने से डॉक्टर को भी कोरोना हो गया। अब प्रशासन के सामने इस डॉक्टर के जांचे मरीजों व संपर्क में आए अन्य लोगों की तलाश कर उनकी नए सिरे से जांच करने की बड़ी चुनौती खड़ी हो गई है। आज दोपहर तक जांच रिपोर्ट आने से पहले यह डॉक्टर सौ से अधिक मरीजों की जांच कर चुके थे। पहले ही मिल चुके है 20 कोरोना संक्रमित
परकोटे के भीतर बसे प्राचीन शहर में आज मिले डॉक्टर सहित कुल बीस कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके है। ऐसे में चार थाना क्षेत्रों में महा कर्फ्यू लगाकर व्यापक स्तर पर घर-घर जांच अभियान चलाया जा रहा है। इस डॉक्टर के पॉजिटिव निकलने के कारण अब पूरी प्रक्रिया नए सिरे से शुरू करनी पड़ेगी।