ALL Rajasthan
कोरोना देश मेंअब तक 23 हजार 295 केस : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा- चीन और दूसरे देशों से लाई गई खराब एंटीबॉडी टेस्टिंग किट लौटाएंगे
April 24, 2020 • Rajkumar Gupta

एक पुरानी कहावत है-जंगल में मोर नाचा, किसने देखा....लेकिन कपूरथला, पंजाब के सींचेवाल इलाके में जब मोर नाचे तो सबने देखा। लॉकडाउन में इंसानी भीड़ कम हो गई है और इन खूबसूरत पक्षियों के लिए ये समय खुलकर सांस लेने का है।
नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि हमने चार मरीजों पर प्लाज्मा थैरेपी आजमाई है। इसके नतीजे उत्साहवर्धक रहे हैं। ये सभी मरीज यहां के लोक नायक जयप्रकाश नारायण अस्पताल (एलएनजेपी) में भर्ती हैं। केजरीवाल ने कहा कि एलएनजेपी के 2-3 मरीजों को यह थैरेपी और दी जानी है। अभी केंद्र से कुछ गंभीर मरीजों पर ही यह इलाज आजमाने की अनुमति मिली थी। इसे कुछ और मरीजों पर आजमाया जाना है। इसके बाद अगले हफ्ते सभी गंभीर रोगियों को यह इलाज देने की अनुमति ली जाएगी। मुख्यमंत्री ने पहले ठीक हो चुके मरीजों से ब्लड प्लाज्मा दान करने की अपील की है।

सरकार के मंत्रालयों की साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में शुक्रवार को बताया गया कि देश के 80 जिलों में 14 दिन से कोरोना संक्रमण का कोई भी नया केस नहीं आया है। इसके साथ ही मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 20.57% हो गई है।
लॉकडाउन के पहले हफ्ते में 1251 मामले आए, इसका डबलिंग रेट 5.2 दिन था। यानी 5.2 दिन में मामले दोगुना हो रहे थे। मौजूदा समय में यह दर 9.2 दिन हो गई है। अगर लॉकडाउन लागू नहीं होता तो हम आज 73 हजार मामलों तक पहुंच जाते। 
देश ने अपना व्यवहार बदला लिया है। हर गांव, हर कस्बे में लोगों की सोच है कि इस महामारी को हमें हराना है। अपने जीवन को सामान्य रखते हुए इस महामारी से कैसे बचना है। इसके लिए रणनीति बनाई जा रही है।
हमने जिला स्तर से राज्य और केंद्र तक सर्विलांस सिस्टम बनाया है। अब तक 9 लाख 45 हजार लोग सर्विलांस में हैं। जिले के कलेक्टरों की मदद से हमें सर्विलांस में मदद मिली है।
 हम दवा और वैक्सिन तैयार करने की भी कोशिश कर रहे हैं। कंटेनमेंट प्लान भी जारी है। अगर ऐसे कदम नहीं उठाए जाएं तो संक्रमण का स्तर बढ़ता ही जाएगा। ऐसे में यह हमारे लिए और भी मुश्किल की बात होगी।
अभी तक किसी भी शहर में आईसीयू नहीं भरा है, अस्पतालों के बाहर लाइनें नहीं लगी हैं। ऐसा भी नहीं है कि सर्दी, खांसी की दवाओं की मांग बढ़ गई हो। ऐसे में हम कह सकते हैं कि हमारी स्थिति बेहतर है। 

संक्रमितों की संख्या 23 हजार के पार

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 23 हजार 295 हो गई है। शुक्रवार को आंध्रप्रदेश में 62, पश्चिम बंगाल में 58, राजस्थान में 44, कर्नाटक में 18, बिहार में 12 और ओडिशा में एक मरीज की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। ये आंकड़े covid19india.org और राज्य सरकारों से मिली जानकारी के अनुसार हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में संक्रमितों की कुल संख्या 23 हजार 77 है। इनमें से 17 हजार 610 का इलाज चल रहा है, 4749 ठीक हुए हैं और 718 की मौत हुई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि चीन और अन्य देशों से आईं खराब एंटीबॉडी रैपिड टेस्ट किट वापस की जाएंगी। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इनका अभी कोई भुगतान नहीं किया गया है। इन किट के नतीजों पर पश्चिम बंगाल, फिर राजस्थान से शिकायतें आई थीं। इसके बाद इंडियन मेडिकल काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने इससे जांच करने पर दो दिन की रोक लगा दी थी।
    इंडियन ड्रग मैन्युफैक्चर्स एसोसिएशन गुजरात क्षेत्र के चेयरमैन विरांची शाह का कहना है कि देश में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की कोई कमी नहीं है। उन्होंने न्यूज एजेंसी से कहा कि हम हर महीने 35 से 40 करोड़ टेबलेट बना सकते हैं। यह हमारी जरूरत का 10 गुना है। यह दवा कोरोना संक्रमण के इलाज में कारगर मानी जा रही है।
    गोवा, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर के बाद त्रिपुरा भी कोरोना मुक्त हो गया है। हालांकि, यहां काफी कम मरीज थे। गोवा में 7, अरुणाचल में 2, जबकि मणिपुर और त्रिपुरा में 1-1 व्यक्ति संक्रमित पाया गया था।
    सऊदी अरब स्थित भारतीय दूतावास का कहना है कि 22 अप्रैल तक जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार वहां कोरोनावायरस संक्रमण से 11 भारतीयों की मौत हुई है। इनमें से 4 मदीना में, 3 मक्का में, 2 जेद्दा में, जबकि 1-1 ने रियाद और दम्मम में जान गंवाई है।
    उत्तराखंड में उत्तरकाशी की रेवेन्यू पुलिस ने क्वारैंटाइन नियमों का उल्लंघन करने पर 51 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें 6 महीने और 3 साल के 2 बच्चे भी हैं। मामला सामने आने के बाद उत्तरकाशी के डीएम ने सफाई दी है। उनका कहना है कि 8 साल से कम उम्र के बच्चों पर जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज नहीं की जा सकती। यह कैसे हुआ, इसकी जांच की जा रही है।

5 राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश का हाल 

मध्यप्रदेश, संक्रमित- 1698: शिवराज सरकार संक्रमण रोकने के लिए केरल मॉडल पर विचार कर रही है। इसको लेकर प्रदेश के डॉक्टर्स और वरिष्ठ अधिकारियों ने केरल के अधिकारियों से बात की है। केरल का कासरगोड़ सबसे ज्यादा प्रभावित था। यहां सख्त लॉकडाउन लागू करके मरीजों की ट्रेसिंग और टेस्टिंग तेजी से की गई थी। मध्यप्रदेश में इंदौर, भोपाल, उज्जैन और खरगोन सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। माना जा रहा है कि इन शहरों में लॉकडाउन बढ़ना तय है। 

उत्तरप्रदेश, संक्रमित- 1555: यहां पिछले 24 घंटे में 98 नए संक्रमित मिले हैं। उधर, राज्य सरकार ने लोगों को राहत देने के लिए निजी लैब से कोरोना टेस्ट करवाने की फीस को दो भागों में बांट दिया है। मरीज को पहले टेस्ट के 1500 रुपए और उसमें पॉजिटिव आने पर कन्फर्म टेस्ट के 3000 रुपए देने होंगे। अगर कोई पहले टेस्ट में ही निगेटिव आए तो सिर्फ 1500 रुपए देने होंगे। आईसीएमआर ने दोनों टेस्ट की फीस 4500 रुपए तय की है।

महाराष्ट्र, संक्रमित- 6427: महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री और राकांपा नेता जितेंद्र आव्हाड की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्हें निमोनिया है। आव्हाड को मुंबई में भर्ती किया गया है। कुछ दिन पहले उनके संपर्क में रहे सुरक्षाकर्मियों समेत 18 लोग पॉजिटिव मिले थे। राज्य में गुरुवार को 778 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। यह एक दिन में सबसे ज्यादा है।

राजस्थान, संक्रमित- 2008: यहां शुक्रवार को 44 कोरोना संक्रमितों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इनमें से जयपुर से 21, कोटा से 18, झालावाड़ से 4 और भरतपुर में 1 मरीज मिला। राज्य में 53 दिनों में कोरोना मरीजों की संख्या दो हजार के पार हो गई है। पहला केस 3 मार्च को जयपुर में सामने आया था। एक अप्रैल तक राज्य में सिर्फ 120 मरीज थे।

दिल्ली, संक्रमित- 2248: दिल्ली एम्स के गैस्ट्रोएंट्रोलॉजी डिपार्टमेंट की एक नर्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके बाद विभाग के 40 लोग क्वारैंटाइन हो गए हैं। उधर, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है लोक नायक जयप्रकाश नारायण हॉस्पिटल में 4 गंभीर मरीजों का इलाज प्लाज्मा थैरेपी से किया गया है। इसके नतीजे अच्छे आए हैं। अब केंद्र सरकार से सभी गंभीर मरीजों का इलाज इस थैरेपी से करने की अनुमति ली जाएगी।
बिहार, संक्रमित- 182: राज्य में शुक्रवार को संक्रमण के 12 मामले सामने आए। इनमें से 6 मरीज मुंगेर में, 3 नालंदा में, 2 बक्सर में और 1 बांका में मिला। राज्य में पिछले 5 दिन में ही 90 संक्रमित बढ़े हैं। मुंगेर जिले में सबसे ज्यादा 37 संक्रमित हैं। इनमें से 30 मरीज अकेले जमालपुर सदर बाजार में मिले हैं। मुंगेर के बाद नालंदा में 34 और सीवान में 30 मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।