ALL Rajasthan
कोरोना के 2 माह: भारत में 5 हजार के पार पहुंचा कोविड-19 मरीजों का आंकड़ा, कहां थे कौन से देश
April 8, 2020 • Rajkumar Gupta

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमण की पहली पुष्टि 30 जनवरी को हुई थी। तब से दो महीने से ज्यादा वक्त हो चुका है। इस दौरान देश में कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़कर 5,194 हो चुकी है। हालांकि, इनमें 401 मरीज ठीक हो चुके हैं, लेकिन 149 मरीजों को जान भी गंवानी पड़ी है। हालांकि, ठीक महीने पूरा होने पर 31 मार्च को भारत में महज 1,251 मरीज ही थे। बहरहाल, इन आकड़ों के साथ हमारा देश कोरोना से प्रभावित अन्य प्रमुख देशों की तुलना में कहां खड़ा है? आइए देखते हैं...

​अमेरिका ने चीन को भी पछाड़ा

दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका में कोरोना वायरस के संक्रमण की पहली पुष्टि 20 जनवरी, 2020 को हुई और देखते ही देखते देश की आर्थिक राजधानी न्यूयॉर्क कोरोना का केंद्र बन गया। अगले दो महीनों में यानी 20 मार्च 2020 को अमेरिका में कुल 19,367 संक्रमित पाए गए। 7 अप्रैल तक वहां 4 लाख, 540 लोगों के कोविड-19 की बीमारी की पुष्टि हो चुकी है। अमेरिका में इस बीमारी ने 12,857 लोगों की जान ले ली। वहां 21,711 मरीज ठीक हो चुके हैं। हैरत की बात है कि अकेले न्यूयॉर्क में 1,42, 384 कोविड-19 मरीज हैं।

​इटली: 47 दिन में 1,35,586 केस

इटली में कोरोना वायरस का पहला केस 20 फरवरी को सामने आया जब 38 वर्ष के एक व्यक्ति को कोविड-19 का मरीज पाया गया। इटली के लोदी प्रोविंस में उस व्यक्ति ने कई लोगों को संक्रमित किया। अभी दो महीने भी पूरे नहीं हुए और आज वहां कुल 1,35,586 कोविड-19 मरीज हैं जबकि 17,127 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है।

​यूके: प्रधानमंत्री ही हुए शिकार

यूके दुनिया का अकेला ऐसा देश है जहां के राष्ट्राध्यक्ष ही कोविड-19 की बीमारी से पीड़ित हो गए है। यूके के प्राइम मिनिस्टर बॉरिस जॉनसनल दो दिनों से आईसीयू में हैं। वहां, संक्रमण की पहली पुष्टि 31 जनवरी को हुई थी और मार्च खत्म होते-होते वहां 25,150 केस सामने आ चुके थे। यूके में 8 अप्रैल तक कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़कर 55,242 तक पहुंच चुकी है। यानी, बीते आठ दिनों में वहां मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई। अब तक 6,159 मरीजों ने जान गंवाई जबकि महज 135 मरीज ही ठीक हो पाए।

​फ्रांस: दो महीने में 14,459

फ्रांस में पहले कोरोना संक्रमण की पुष्टि 21 जनवरी को हुई थी। इसके साथ ही फ्रांस यूरोप का पहला देश बन गया जहां कोविड-19 का मरीज पाया गया। दो महीने याना 21 मार्च तक वहां 14,459 केस हो गए जबकि महज 10 दिनों में आंकड़ा तीन गुना होकर 52,128 पर पहुंच गया। फिर आठ दिनों में 7 अप्रैल तक फ्रांस में संक्रमितों की तादाद दोगुनी होकर 1,09,069 तक पहुंच चुकी है जबकि 10,328 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं, 19,337 मरीज ठीक हो चुके हैं।

​स्पेन: अब तक 95,923 मरीज

31 जनवरी को स्पेन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने पहले कोविड-19 मरीज की पुष्टि की थी। दो महीने बाद 31 मार्च को यहां 95,923 केस हो गए। 8 अप्रैल तक वहां कुल 1,41,942 लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है जबकि 14,045 लोगों की मौत हो चुकी है। स्पेन में अब तक 43,208 मरीज कोविड-19 बीमारी से उबर भी चुके हैं।

​चीन: दो महीने के बाद अचानक उबाल

चीनी अखबार साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट (SCMP) के मुताबिक, चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण का पहला केस 17 नवंबर को आया था। अखबार के अनुसार हुबेई प्रांत के एक 55 वर्षीय बुजुर्ग को कोविड-19 बीमारी हुई थी। हालांकि, तब किसी को पता नहीं था कि बीमारी कोरोना वायरस के संक्रमण से हुई है। 15 दिसंबर आते-आते हर दिन 1 से 5 नए कोविड-19 मरीज सामने आने लगे और कुल संक्रमितों की संख्या 27 तक पहुंच गई। फिर 20 दिसंबर तक यह आंकड़ा 50 और 27 दिसंबर तक बढ़कर 180 हो गया। चीन में पिछले साल के आखिरी दिन 31 दिसंबर, 2019 को 266 जबकि अगले दिन यानी इस साल के पहले दिन 1 जनवरी, 2020 को 381 कोविड-19 मरीज थे। 7 अप्रैल को चीन में 81,802 कोविड-19 मरीज पाए गए जबकि 3,333 मरीजों की मौत हो गई। चीन में कुल 77,279 मरीज ठीक हो चुके हैं।

​ईरान: दो महीने से कम में 62,589 मरीज

ईरान के शहर कोम में 19 फरवरी, 2020 को पहला कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाया गया। लेकिन, शुरुआती दिनों में ईरान की सरकार बेहद बेपरवाह रही। वहां के स्वास्थ्य मंत्री इराज हरीरची ने मीडिया के सामने आकर यह तक कहा कि 'क्वारेंटाइन का संबंध पाषाण युग से है।' वह ऐसा बोलते हुए माथे से पसीना पोंछ रहे थे। अगले ही दिन उन्हें संक्रमित पाया गया और वह क्वारेंटाइन में चले गए। इस लापरवाही के कारण ईरान मध्य पूर्व का सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित देश बन गया। ईरान में संक्रमण की शुरुआत के दो महीने भी पूरा नहीं हुए और वहां अब 62,589 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। 7 अप्रैल तक ईरान में 3,872 लोगों की मौत हो चुकी है। वहां 27,039 लोग कोविड-19 बीमारी से ठीक भी हो चुके हैं।