ALL Rajasthan
कोरोना ने दिया नया फैशन ट्रेंड, फेस प्रिंट वाले मास्क की धूम
June 2, 2020 • Rajkumar Gupta

 दिल्ली
इन दिनों मास्क सबके लिए जरूरी हो गया है। पहले एन-95 मास्क, 3-डी मास्क, इसके बाद मार्केट में फैशनेबल मास्क सबसे ज्यादा ट्रेंड में हैं। फेस प्रिंट मास्क ने मार्केट में धूम मचाई हुई है। लोग अपने चेहरे के प्रिंट वाले मास्क बनवा रहे हैं। अभी तक लोग गिफ्ट में टेडी, गुलाब या फिर मिठाई देते हैं, लेकिन लोग उपहार में अब मास्क भी दे रहे हैं।

भोलानाथ नगर में फैशनेबल मास्क बनाने वाले गौरव आज़ाद ने बताया कि प्रिंटेड मास्क मार्केट में नया आया है। लोग इसे बहुत पसंद कर रहे हैं। मास्क लगाने वाले का चेहरा नजर नहीं आता। इस वजह से भी लोग मास्क पहनने वाले को पहचान नहीं पाते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं हो रहा है, लोग अपने चेहरे के प्रिंट वाले मास्क बनवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस मास्क को बनाने के लिए उन्हें फोटो चाहिए होती है। कुछ लोग बस अपने होठों की फ़ोटो ही मास्क पर छपवा रहे हैं। कुछ पूरी फ़ोटो ही मास्क पर लगवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि 4 मास्क 300 रुपये में बनाकर दे रहे हैं ।

हेल्मेट छोड़ बनाने लगे फेस शील्ड
राम प्रताप सिंह शाहदरा के ज्योति नगर इलाके के रहने वाले हैं। उनकी अपनी हेल्मेट बनाने की फैक्ट्री है। लॉकडाउन में राम प्रताप सिंह ने अपनी फैक्ट्री में हेल्मेट की जगह फेस शील्ड बनाना शुरू कर दिया है। उन्होंने बताया कि उनके बनाए फेस शील्ड जेल, स्टेशन, अस्पताल समेत सरकारी विभागों में जा रहे हैं। कोरोना फाइटर्स को वे विशेष छूट दे रहे हैं। हमारी कोशिश है कि सरकारी स्कूल खुलने पर भी सस्ती कीमत पर बच्चों और शिक्षकों को फेस शील्ड उपलब्ध कराई जाए।

कोरोना काल में कई लोगों ने अपना धंधा बदल दिया
उन्होंने बाजार में आ रही आम फेस शील्ड के साथ ऐडजस्टेबल फेस शील्ड बनाना शुरू कर दिया है। राम प्रताप की तरह ही काफी लोग हैं, जिन्होंने कोरोना के इस नाजुक वक्त में अपना काम धंध चेंज किया है। लोनी में हेल्मेट बनाने की फैक्ट्री है। कोरोना काल में अब उन्होंने हेल्मेट बनाना छोड़कर फेस शील्ड बनाने का काम शुरू कर दिया है।