ALL Rajasthan
कोरोना संकट के बीच बिहार चुनाव पर CM नीतीश की पैनी नजर
May 15, 2020 • Rajkumar Gupta

नई दिल्ली
बिहार में कोरोना वायरस  के मामलों में लगातार इजाफा देखने को मिल रहा है। ऐसे में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  खुद इस स्थिति पर बारीकी से नजर रख रहे हैं। यही नहीं इस साल विधानसभा का चुनाव भी होना है, ऐसे में जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के नाते नीतीश कुमार की निगाहों इस पर भी हैं। यही वजह है कि उन्होंने आगामी चुनाव को लेकर रणनीतिक तैयारी भी तेज कर दी है। नीतीश कुमार अब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लगातार पार्टी कार्यकर्ताओं से जुड़ रहे हैं।कोरोना संकट के बीच चुनाव पर भी फोकस
कोविड-19 के मामलों को लेकर बिहार के सीएम नीतीश कुमार रोजाना अधिकारियों से फीडबैक लेते हैं। इसके साथ ही वो इस महामारी से बचाव, प्रदेश में चल रहे राहत कार्यों की स्थिति पर भी चर्चा करते हैं, साथ ही किसी भी तरह की कमियों को दूर करने के लिए जरूरी दिशा-निर्देश भी देते हैं। कोरोना संकट से जुड़े मामलों को देखने के बाद नीतीश कुमार जेडीयू कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत भी करते हैं। उन्हें आगामी चुनाव को लेकर तैयार रहने के लिए कहते हैं।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ले रहे जरूरी फीडबैक
जानकारी के मुताबिक, नीतीश कुमार ने बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारी करीब दो हफ्ते पहले से शुरू कर दी है। सूत्रों के मुताबिक, वो रोजाना करीब 6 घंटे इस पर विचार-विमर्श करते हैं। कोरोना संकट के बीच नीतीश कुमार को आगामी विधानसभा चुनावों के मद्देनजर एक अलग चुनौती का सामना करना पड़ रहा है। जेडीयू से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने अब तक 1,250 से अधिक पार्टी पदाधिकारियों से संपर्क किया है। इनमें ब्लॉक/शहर अध्यक्ष स्तर के नेताओं समेत राज्य स्तर तक के नेता शामिल हैं। जेडीयू के सांसद, विधायक, एमएलसी, पूर्व सांसद और पूर्व विधायकों से भी फीडबैक लिया जा रहा है।

पार्टी कैडर के बाद अब क्षेत्रीय संगठन प्रभारी से बात करेंगे नीतीश
बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस वार्ता में हिस्सा लेने वाले जेडीयू के राष्ट्रीय कार्यकारी समिति के सदस्य राम बिहारी सिंह ने कहा कि जेडीयू अध्यक्ष सबसे पहले पार्टी कैडरों से मिलने वाले फीडबैक को सुनते हैं। आखिर में वो कोरोना संकट के बीच कार्यकर्ताओं को कैसे आगे बढ़ना है इसको लेकर अपने विचार देते हैं। सूत्रों के मुताबिक, जेडीयू की राजनीतिक प्रबंधन टीम कम से कम तीन जिलों के पार्टी कैडरों का चयन करती है। बुधवार को नीतीश कुमार ने बक्सर, भोजपुर और पटना जिलों के पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत की थी। जेडीयू से जुड़े एक और सूत्र ने बताया कि अब उन्होंने सभी 38 जिलों के पार्टी कार्यकर्ताओं से चर्चा पूरी कर ली है। अब वो जेडीयू के क्षेत्रीय संगठन प्रभारी यानी क्षेत्रीय संगठनात्मक प्रमुखों के साथ बातचीत करेंगे।

नीतीश कुमार का पार्टी कार्यकर्ताओं को अहम निर्देश
प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के साथ ही नीतीश कुमार का खास ध्यान पार्टी कार्यकर्ताओं की भूमिका पर भी है। जेडीयू से जुड़े सूत्र के मुताबिक, उनका संदेश साफ है कि पार्टी के कार्यकर्ताओं को सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं पर कड़ी निगरानी रखनी चाहिए। खास तौर से वो योजनाएं जो उनकी सरकार ने गरीब लोगों के फायदे के लिए शुरू की है। इसके साथ ही वो चाहते हैं कि उनकी पार्टी का कार्यकर्ता लोगों को प्रशासन के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए प्रेरित करें।