ALL Rajasthan
लॉकडाउन 2.0: राज्यों को मोदी सरकार ने दी राहत, शुरू होंगे ये काम
April 17, 2020 • Rajkumar Gupta

नई दिल्ली
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को लॉकडाउन 2.0 के तहत जारी गाइडलाइन में कुछ छूट की घोषणा की है। रिवाइज्ड गाइडलाइन में कुछ ऐक्टिविटी में राहत दी गई है। इसमें कृषि, बागवानी, वन उत्पाद, फाइनैंशल सेक्टर और ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण कार्यों को शुरू करने का निर्देश जारी किया है।
1.वन उत्पादों से जुड़े कार्य
वन क्षेत्रों में अनुसूचित जनजातियों तथा अन्य जातियों के द्वारा माइनर फॉरेस्ट प्रोड्यूस (MFP), नॉन टिम्बर फॉरेस्ट प्रोड्यूस (NTFP) का संग्रहण, कटाई और प्रोसेसिंग।

2.प्लांटेशन और मसाले
बांस, नारियल, सुपारी, मसालों की कटाई, प्रोसेसिंग, पैकेजिंग, बिक्री और मार्केटिंग।

3.फाइनैंशल सेक्टर
हाउसिंग फाइनैंस कंपनी (HFC) और माइक्रो फाइनैंस इंस्टिट्यूशन (MFI) सहित नॉन बैंकिंग फाइनैंशल इंस्टिट्यूशन्स (NBFC) को न्यूनतम स्टाफ के साथ। इसके साथ ही कोऑपरेटिव क्रेडिट सोसाइटी।

4.ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण कार्य
ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण कार्य। पानी की सप्लाई और सफाई सहित। पॉवर ट्रांसमिशन लाइन्स बिछाना। टेलिकॉम ऑप्टिकल फाइबर और केबल से जुड़े कार्य सहित।

लॉकडाउन 2.0 के दौरान इन गतिविधियों पर छूट रहेगी। इसके साथ ही कोरोना से मुक्त इलाकों में लॉकडाउन के मद्देनजर रोजमर्रा की दिक्कतों को दूर करने की कोशिशें भी की गई हैं। कटाई और आने वाले दिनों में नए बुवाई सीजन के शुरू होने के मद्देनजर खेती-किसानी से जुड़े कामों को खास छूट दी गई है। हालांकि, इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का कड़ाई से पालन किया जाएगा। कंस्ट्रक्शन ऐक्टिविटीज को भी शर्तों के साथ सीमित छूट दी गई है। 
बता दें कि कोरोना वायरस लॉकडाउन 2.0 के बीच किन्हें छूट मिलेगी, किन्हें नहीं इसकी गाइडलाइंस जारी हुई हैं। इसमें बताया गया है कि फिलहाल परिवहन पर पूरी तरह रोक जारी रहेगी। राज्यों के बॉर्डर भी सील ही रहेंगे। यानी बस, मेट्रो, हवाई और ट्रेन सफर नहीं किया जा सकेगा। इसके अलावा स्कूल, कोचिंग सेंटर भी बंद ही रहेंगे। सरकार ने कहा है कि किसानी से जुड़े कामों को छूट जारी रहेगी। इसके साथ ही मुंह कवर करना अब जरूरी कर दिया गया है। थूकने पर जुर्माना भी लगेगा।