ALL Rajasthan
लॉकडाउन 3 मई तक के लिए बढ़ाया-पीएम मोदी ने बताया कि भारत ने कोरोना को कैसे रोका
April 14, 2020 • Rajkumar Gupta

नई दिल्ली
कोरोना वायरस की वजह से देश में लॉकडाउन किया गया है, जिसका आज आखिरी दिन है। ऐसे में पीएम मोदी ने आज सुबह 10 बजे देश के नाम संबोधन (Modi address to nation) दिया और बताया कि आगे की क्या रणनीति रहेगी। पीएम मोदी ने लॉकडाउन की अवधि को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया है। अपने संबोधन में लॉकडाउन (Lockdown in india) की अवधि बढ़ाने से पहले उन्होंने ये बताया कि कोरोना को रोकने के लिए सरकार ने क्या-क्या किया। आइए जानते हैं सरकार ने कैसे कोरोना को रोकने की कोशिश की।
पहले मामले से लॉकडाउन लागू करने तक
पीएम मोदी ने बताया कि जब भारत में एक भी मामला नहीं था, तभी भारत ने विदेश से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग शुरू कर दी थी। जब मामले 100 हुए, तब तक विदेश से आने वाले सभी लोगों को 14 दिन के आइसोलेशन में रहना अनिवार्य कर दिया। कई जगहों पर स्कूल, मॉल, थिएटर आदि बंद किए जा चुके थे। जब भारत में कोरोना मामलों की संख्या 550 पहुंची तो भारत ने 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया।

'समस्या बढ़ने का इंतजार नहीं किया'
पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने समस्या बढ़ने का इंतजार नहीं किया, बल्कि इसे बढ़ता हुआ देखते ही तुरंत उसे रोकने की कोशिशें शुरू कर दीं। समस्या बढ़ने पर तेजी से फैसले लेकर उसे रोकने का प्रयास किया। पीएम मोदी का कहना था कि अगर समय रहते सख्त कदम नहीं उठाए जाते तो हालात बिगड़ सकते थे।

बाकी देशों से कहीं बेहतर है भारत
पीएम मोदी ने कहा कि यूं तो इस संकट में किसी भी देश के साथ तुलना करना उचित नहीं है, लेकिन कुछ सच्चाइयों को नकारा नहीं जा सकता है। वह बोले कि बाकी देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत ही संभली हुई है। करीब डेढ़ महीने पहले कई देश कोरोना के मामले में एक तरह भारत के बराबर खड़े थे, लेकिन आज वहां संक्रमण 25-30 गुना फैल चुका है। उन्होंने कहा कि अगर तमाम सख्त कदम नहीं उठाए जाते तो भारत की हालत और भी खराब हो सकती थी।