ALL Rajasthan
लॉकडाउन की उड़ी धज्जियां -यमुनानगर में जेल में हुई थी युवक की मौत, अंतिम संस्कार में सैकड़ों लोग शामिल हुए
April 26, 2020 • Rajkumar Gupta

यमुनानगर के चुन्ना भट्टी इलाके में अंतिम संस्कार में उमड़ी सैकड़ों लोगों की भीड़। पुलिस इन्हें नहीं रोक पाई, सरेआम लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाई गई।

यमुनानगर. हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्‌टर प्रदेश में लॉकडाउन को सख्ती से पालन करवाने की बात कह रहे हैं। लेकिन यमुनानगर में सरेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। 10 या 20 लोग नहीं सैकड़ों की संख्या में लोग इकट्ठा हुए और अंतिम संस्कार में शामिल हुए। पुलिस इन्हें रोकने में नाकामयाब रही। चंद पुलिसकर्मी जो मौके पर मौजूद थे, वे बस चुपचाप देखते रहे, उनकी भी कुछ करने की हिम्मत नहीं हुई। मृतक के परिजनों ने संस्कार से पहले हंगामा भी किया था, क्योंकि मृतक की मौत जेल में तबीयत खराब होने की वजह से हुई थी। उन्होंने जेल प्रशासन पर जहर देकर हत्या का आरोप भी लगाया है। 

झगड़े में सरेंडर करने के बाद जेल में था, वहां खाना खाने के बाद तबीयत बिगड़ी
जानकारी के मुताबिक होली के दिन यमुनानगर के भाटिया नगर में दो पक्षों के बीच झगड़ा हुआ था। चुन्ना भट्टी के रमन पर आरोप लगा था कि उसने दूसरे पक्ष पर फायरिंग की है। इस मामले में पुलिस ने रमन समेत उसके साथियों पर हत्या के प्रयास का केस दर्ज किया था। वहीं दूसरे पक्ष पर मारपीट का केस दर्ज किया गया था। 

हत्या के प्रयास के मामले में रमन ने 21 अप्रैल को थाने में सरेंडर कर दिया था। अगले दिन उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। जेल प्रशासन का कहना है कि 25 अप्रैल दोपहर का खाना खाने के बाद उसकी तबीयत बिगड़ गई थी। उसने उल्टी की और वहीं गिर गया। जेल प्रशासन उसे एंबुलेंस में सिविल अस्पताल लेकर पहुंचा तो उसे मृत घोषित कर दिया गया। रमन के पिता राजेंद्र वाल्मीकि ने आरोप लगाया कि बेटे को जेल में जहर दिया गया। शनिवार को भी जमकर हंगामा हुआ था। रविवार को संस्कार होने लगा तो सैकड़ों की संख्या में लोगों की भीड़ जुट गई। पुलिस इसे रोकने में पूरी तरह नाकामयाब रही। वहीं डीएसपी हेडक्वार्टर सुभाष चंद का कहना है कि हमने व्यवस्था बनाने के लिए पुख्ता प्रबंध कर रखे थे। चुन्ना भट्टी में सैकड़ों लोगों की भीड़ जुटी है, इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं है।