ALL Rajasthan
मादक पदार्थ तस्करी में वर्चस्व को लेकर फायरिंग के आरोपी गिरफ्तार, दो देसी पिस्तौल और कारतूस बरामद
May 25, 2020 • Rajkumar Gupta

जयपुर.. पुलिस ने फायरिंग चाकूबाजी के एक मामले में दो आरोपियों को सोमवार को गिरफ्तार किया। राजधानी में मादक पदार्थों की तस्करी के अवैध कारोबार में वर्चस्व को लेकर दो गिरोह में नौ मई को झगड़ा हुआ था। इसमें चाकू लगने से एक युवक घायल हो गया था। घायल युवक ने मुहाना थाने में मामला दर्ज करवाया था।

इस मामले में राजीनामा नहीं करने पर आरोपियों ने घायल युवक के साथियों पर फायरिंग कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू की और 13 दिन में आरोपियों को हथियार व कारतूस सहित गिरफ्तार किया। डीसीपी योगेश दाधीच ने बताया कि भरतपुर हाल अनिता कॉलोनी निवासी हरिओम छीपा और आदर्श नगर गाजी बाबा की ढाणी निवासी दीपक सैनी उर्फ भूरिया को गिरफ्तार किया है। इनके अलावा चाकूबाजी और फायरिंग के मुख्य आरोपी विष्णु शर्मा को हिरासत में लेकर जांच के लिए अलवर ले जाया गया है। आरोपी विष्णु ने फरारी के दौरान मुंडावर विधायक मंजीत धर्मपाल चौधरी को वॉट्सएप कॉल कर 20 लाख रुपए की रंगदारी नहीं देने पर मारने की धमकी दी थी। इस संबंध में अलवर के नीमराणा थाने में आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। अलवर और जयपुर पुलिस ने 23 मई को आरोपी को हिरासत में लिया था। अगले दिन उसके दोनों साथियों को भी पकड़ लिया गया। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

यह है मामला

एसीपी श्रवण कुमार झोरड ने बताया कि नौ मई को मुहाना मोड़ के पास ढाणी कुमावतान में आपसी रंजिश के चलते विष्णु ने श्यामनगर तृतीय निवासी शुभम उर्फ गोलू पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद वह फरार हो गया था। इस दौरान 11 मई को देर रात विष्णु कार से अपने दो साथियों को लेकर ढाणी कुमावतान पहुंचा और बाइक सवार डब्बू छीपा व ओमप्रकाश वासवानी पर फायरिंग कर दी। गोली ओमप्रकाश के पैर में लगी थी।

थानाप्रभारी हीरालाल सैनी ने बताया कि तफ्तीश के दौरान सामने आया कि डब्बू छीपा का भाई शालू छीपा, बंटी, गोलू व लाला के साथ मिलकर मालवीय नगर, जवाहर सर्किल, सांगानेर, मालपुरा गेट, मुहाना और सांगानेर सदर थाना इलाके में मादक पदार्थ तस्करी का अवैध कारोबार करते हैं। इस कारोबार के क्षेत्र में अपना-अपना वर्चस्व बनाने के लिए दोनों गिरोह में रंजिश चल रही थी।

इसी रंजिश के चलते शालू छीपा व उसके गिरोह ने हरिओम छीपा ग्रुप के विष्णु से झगड़ा किया, जिसमें शुभम उर्फ गोलू चाकू के वार से घायल हो गया था। इस घटना में दर्ज मामले में राजीनामा करने के लिए हरिओम छीपा गिरोह ने डब्बू छीपा व ओमप्रकाश को बीच रास्ते में रोककर दबाव बनाया। उन्होंने राजीनामा करने से इनकार किया तो आरोपियों ने फायरिंग कर दी थी।

तलाशी के दौरान पुलिस ने हरिओम को कीरों की ढाणी और दीपक को मुहाना मोड से पकड़ा है। उनके पास एक-एक देशी पिस्टल और कारतूस बरामद हुए हैं। आरोपियों को पकड़ने में टीम में एएसआई रामवीर सिंह, हैड कांस्टेबल भागचंद, कांस्टेबल, हंसराज, उमेश, राजेन्द्र, हिम्मत सिंह और मुहाना थाना से मंगलज, पिंटू कुमार और रामजीलाल शामिल रहे।