ALL Rajasthan
महाराष्‍ट्र में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ा, बोले उद्धव- एक भी केस छिपना नहीं चाहिए
May 31, 2020 • Rajkumar Gupta

मुंबई
महाराष्‍ट्र सरकार ने राज्‍य में 30 जून तक लॉकडाउन बढ़ाते हुए इसे 'मिशन बिगिन अगेन' नाम दिया है। महाराष्‍ट्र में जरूरी कामों को छोड़कर पूरे राज्य में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा। राज्‍य के सीएम उद्धव ठाकरे ने अधिकारियों से कहा है कि कोरोना का एक केस भी नहीं छिपना चाहिए। केंद्र सरकार ने कोरोना संक्रमण से निबटने के अगले चरण में देश भर में कई रियायतें देते हुए अनलॉक 1 का ऐलान किया है।

कोरोना केस पर अधिकारियों को सख्त निर्देश
रविवार को राज्‍य के सीएम उद्धव ठाकरे ने फेसबुक पर एक व‍ीडियो जारी करके अफसरों को निर्देश दिया कि महाराष्‍ट्र में कोरोना का एक भी मामला जनता से छिपाया न जाए। उद्धव ने कहा, 'यह सच है कि कुछ मामले सामने आएंगे लेकिन हम समय रहते उन पर ऐक्‍शन लेंगे। मैंने पहले दिन से ही अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना के एक भी मामले को न छिपाया जाए।' 

सच सामने आना चाहिए: सीएम
ठाकरे ने अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा, 'अगर कोरोना के मामलों छिपाए गए तो इससे गंभीर खतरा पैदा हो सकता है और यह वायरस राज्‍य में और आगे फैल सकता है। अगर मृत्‍यु दर अचानक से बढ़ गई तब क्‍या होगा? तब सभी पर जोखिम आएगा। इसलिए हम इस अशुभ दिशा में बढ़ना ही नहीं चाहते।' सीएम ने आगे कहा है, 'सच सामने आना चाहिए और हम सभी मिलकर इसका सामना करेंगे। हमें जो कुछ पता है हम लोगों को उसकी जानकारी देंगे। हम जनता से सहयोग की अपील करेंगे क्‍योंक यह उन्‍हीं के लिए है।

कर्फ्यू में इन लोगों को छूट
महाराष्‍ट्र ने 19 मई के दिशा-निर्देशों में अब तक कोई बदलाव नहीं किया गया है। इसके अनुसार पूरे राज्य में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू जारी रहेगा। हालांकि सैर पर निकलने वालों, घूमने वालों और कसरत करने वालों को समुद्र किनारे, खुले मैदानों में सुबह 5 से शाम 7 बजे तक जाने की मंजूरी दी है। 
महाराष्‍ट्र की हालत सबसे खराब
देशभर में कोरोना के मामले महाराष्‍ट्र में सबसे ज्‍यादा पाए गए हैं। इस समय राज्‍य में करीब 64,168 कोरोना पॉजिटिव हैं। राज्य में 2,197 मरीजों की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो चुकी है जबकि 28,081 मरीज इलाज के बाद महामारी से उबर चुके हैं। फिलहाल राज्‍य में 3,169 कंटेनमेंट जोन हैं जबकि 5 लाख, 51 हजार, 660 लोग होम क्‍वारंटीन हैं, वहीं 72,681 संस्‍थागत क्‍वारंटीन में हैं। अकेले मुंबई में ही 38,442 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। महानगर में कोरोना से 1,227 लोगों की मौत हो चुकी है।