ALL Rajasthan
महिला के अंतिम संस्कार के लिए एक-दूसरे से भिड़े ससुराल और मायके के लोग, हत्या का लगाया आरोप
May 28, 2020 • Rajkumar Gupta

धौलपुर. गुरुवार को जिले में पथैना की एक विवाहिता की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। जिसके अंतिम संस्कार के लिए मायके पक्ष और ससुराल वालों के बीच विवाद हो गया। मोर्चरी से मृतका का शव लेकर ससुराल पक्ष के लोग महज 500 मीटर दूर पहुंचे ही थे कि मायके पक्ष के लोगों ने बाइक से पहुंचकर ट्रैक्टर को रोक लिया। जिसके बाद शव को लेकर विवाद शुरू हो गया।

इस दौरान मायके पक्ष की महिलाएं एवं पुरुषों ने शव ले जा रहे लोगों पर हत्या का आरोप लगाया। उन्होंने ससुराल में अंतिम संस्कार करने से मना करते हुए शव को मायके ले जाने को लेकर हंगामा खड़ा कर दिया। विवाद के चलते करीब 1 घंटे तक पुराना तहसील मार्ग पर जाम लगा रहा, घटनास्थल पर आसपास के लोगों एवं राहगीरों की भीड़ इकट्ठा हो गई।

ससुराल एवं मायके पक्ष के लोगों में विवाद की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे सहायक उपनिरीक्षक राजेश सिंह परमार और हेड कांस्टेबल विशंभर सिंह ने दोनों पक्षों को समझाने की कोशिश की। इस दौरान मायके पक्ष के लोग पुलिस पर ही ससुराल पक्ष के लोगों से मिले होने का आरोप लगाने लगे। विवाद बढ़ता देख पुलिसकर्मियों ने पुलिस उपाधीक्षक विजय कुमार सिंह और थाना प्रभारी अनूप चौधरी को विवाद की सूचना दी। मौके पर पहुंचे सीओ और थाना प्रभारी के द्वारा मृतका के मायके पक्ष के लोगों को समझाइश करते हुए बेटी के शव को मायके ले जाने और संबंधित घटना की पुलिस को रिपोर्ट देने की बात कही। 

एक महिला और दो युवकों को हिरासत में लिया

इस दौरान मृतका के मायके की एक महिला और दो तीन युवक पुलिस से उलझ गए। हालात बिगड़ते देख पुलिस ने एक महिला और दो युवकों को हिरासत में ले लिया। घटनास्थल पर थाने से और भी जाब्ता पहुंचने के बाद मामला शांत हुआ।जिसके बाद पुलिस ने हिरासत में लिए हुए युवकों और महिला को छोड़ते हुए मृतका के शव के साथ गांव के लिए रवाना कर दिया।

भाई बोला 6 माह पूर्व हुई थी शादी, आए दिन करता था पति मारपीट

मृतका अंजलि सिकरवार के भाई सचिन सिकरवार ने बताया कि बहन अंजली का 6 माह पूर्व पथैना निवासी कल्ला उर्फ दीपू के साथ विवाह हुआ था। विवाह के बाद से ही अंजली के साथ उसका पति मारपीट करता था। परिजन दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे। बीती रात को भी पति के द्वारा मारपीट की गई। अंजलि की हत्या कर फांसी के फंदे से लटका दिया।