ALL Rajasthan
ममेरी बहन से दुष्कर्म व हत्या के बाद लाश हाइवे पर फेंकने का मामला, आरोपी भाई ने फंदा लगाकर खुदकुशी की
May 26, 2020 • Rajkumar Gupta


ममेरी बहन की हत्या व दुष्कर्म केस में फरार चल रहे युवक ने  टैक्सी गाड़ी पर फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली

जयपुर.. शहर में एक युवती का अपहरण कर दुष्कर्म व हत्या की वारदात में सनसनीखेज मोड़ सामने आया है। इस मामले में फरार आरोपी युवक ने मंगलवार को फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। इससे पहले सोमवार सुबह युवती की लाश जयपुर के दूदू थाना इलाके में गाड़ोती थाना क्षेत्र में हाइवे किनारे मिली थी। तब मृतका युवती के पिता ने अपने सगे भांजे, उसके भाईयों व एक रिश्तेदार के खिलाफ वैशाली नगर थाने में एक मुकदमा दर्ज करवाया। जिसमें बेटी का अपहरण कर दुष्कर्म करने और फिर हत्या कर लाश को फेंकने का आरोप लगाया था।

कॉल डिटेल्स के आधार पर पुलिस आरोपी युवक की तलाश करते हुए मंगलवार को करणीविहार थाना क्षेत्र में स्थित उसके घर पहुंची। जहां वह अपनी ट्रेवल्स गाड़ी पर केरियर हैंडल से फंदा बनाकर लटकते हुए मिला। पुलिस ने शव को उतारकर कांवटिया अस्पताल पहुंचाया। मुकदमे के डर की वजह से उसके दो भाई गायब है। मृतक के पिता उत्तरप्रदेश में रहते है।

शव की कोविड जांच भी होनी है। ऐसे में पोस्टमार्टम नहीं हो सका। उसकी जेब में एक सुसाइड नोट मिला है। जिसमें लिखा है कि वह युवती से प्रेम करता था। उसके घर वाले मिलने नहीं देते थे। उससे मारपीट करते थे। इसलिए उसने यह कदम उठाया है। अलसुबह युवक को पड़ोसियों से बातचीत करते देखा गया था। खुदकुशी करने वाला युवक टूर एंड ट्रेवल्स में टैक्सी कार चलाने का काम करता था। 

हत्या, अपहरण व दुष्कर्म से जुड़ा यह है पूरा मामला

पुलिस के अनुसार मृतका युवती सिरसी रोड की रहने वाली थी। वह वैशाली नगर में एक हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी में काम करती थी। जांच में सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि शनिवार शाम को आरोपी युवक अपनी सगे मामा की लड़की को कार में बैठाकर साथ ले गया था। इसके बाद वे घर नहीं लौटे तब युवती के परिजनों ने तलाश शुरु कर दी। इसके बाद युवती का शव दो दिन बाद सोमवार को दूदू इलाके में मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। तब पता चला कि उसकी गुमशुदगी रिपोर्ट वैशाली नगर थाने में दर्ज है।

इसके बाद पुलिस ने युवती के पिता से संपर्क किया। तब उन्होंने अपने भांजे सहित पांच रिश्तेदारों के खिलाफ केस दर्ज करवाया। पुलिस जांच में सामने आया कि युवक अपने ही मामा की बेटी और रिश्ते में लगने वाली बहन से शादी करना चाहता था। घर वालों को पता चला तब वे इसके खिलाफ हो गए। उन्होंने भांजे को घर आने पर रोक लगा दी थी। लेकिन फिर भी युवक व युवती मिलते रहे।