ALL Rajasthan
नीतीश ने क्वारंटीन सेंटर में मौजूद प्रवासी मजदूरों से की बात, कहा- अब आप बिहार में ही रहिए
May 22, 2020 • Rajkumar Gupta

पटना
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए यह जानने की कोशिश की कि प्रवासी मजदूरों के लिए बने क्वारंटीन सेंटर किस तरह कार्य कर रहे हैं। नीतीश कुमार ने ना सिर्फ क्वारंटीन सेंटर में रह रहे प्रवासी मजदूरों से बात की बल्कि उनसे पूछा कि आपको वहां किसी तरह की परेशानी है तो खुलकर बताइए। मुख्यमंत्री ने प्रवासी मजदूरों से यह भी आग्रह किया कि अब आप बिहार में ही रहिए और अपने स्किल से बिहार का विकास कीजिए।

नीतीश कुमार ने क्वारंटीन सेंटर में रह रही प्रवासी महिला से पूछा कि आपको वहां रहते हुए 14 दिन पूरा हो रहा है, ऐसे में आपको कोई परेशानी तो नहीं हुई। प्रवासी महिला का जवाब था- 'नहीं सर, कोई परेशानी नहीं हुई।' महिला की बात सुन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हे शुभकामनाएं देते हुए कहा कि बस अब आप यहीं बिहार में ही रहिए। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने क्वारंटीन सेंटर में रह रहे लोगों से अपील करते हुए कहा कि क्वारंटीन सेंटर में रहना आपके हित में है। आप सभी सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करें क्योंकि कोरोना से बचाव का यही प्रभावी उपाय है।

10 जिलों क्वारंटीन सेंटर से जुड़े नीतीश
सीएम नीतीश कुमार आज पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, पूर्णिया, गया, बेगूसराय, रोहतास, मधुबनी, दरभंगा, सीतामढ़ी और शिवहर के क्वारंटीन सेंटर के स्थिति की जांच की। सभी क्वारंटीन सेंटर पर रह रहे लोगों को आश्वासन दिया कि बिहार में उन्हें किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने सभी प्रवासी मजदूरों को बिहार में ही काम देने और इच्छुक लोगों का जॉब कार्ड बनाने का निर्देश अधिकारियों को दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि सभी को उनके स्किल के अनुरूप रोजगार उपलब्ध कराएं और मजदूरों के स्किल के अनुरूप ही उद्योंगो को बढ़ावा दें।

राज्य में रहकर बिहार के विकास में बनें भागीदार
सीएम ने कहा कि बिहार में पेवर ब्लॉक उद्योग की असीम संभावनाएं है। इसके साथ ही जल-जीवन-हरियाली, हर घर पक्की गली-नली और अन्य योजना में पेवर ब्लॉक का इस्तेमाल करने की बात भी कही है। नीतीश कुमार ने घर वापसी करने वाले सभी प्रवासी मजदूरों से आग्रह किया है कि वे बिहार में ही रहें और अपने स्किल के साथ बिहार के विकास में भागीदार बनें।