ALL Rajasthan
राजस्थान में कोरोना के 288 मामले / डूंगरपुर में दादा से संक्रमित हुआ 11 साल का पोता; आज 8 नए केस मिले, इनमें 5 का तब्लीगी कनेक्शन
April 6, 2020 • Rajkumar Gupta

जयपुर. राजस्थान में सोमवार को 22 नए मामले सामने आए। इसमें जयपुर में 8, झुंझुनू में 5, दौसा में 3, डूंगरपुर में 2, जोधपुर 3 (दो ईरान से लौटे) और कोटा में 1 व्यक्ति पॉजिटिव पाया गया। कोटा में पॉजिटिव मिले 60 साल के व्यक्ति की रिपोर्ट आने से पहले ही रविवार रात मौत हो गई। वहीं झुंझुनू में संक्रमित मिले सभी पांच जमाती हैं। डूंगरपुर में 11 साल का बच्चे की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है वह दादा से पॉजिटिव हुआ है। वहीं यहां दूसरा व्यक्ति जमाती है। इसके बाद प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 288 पर पहुंच गई है। इससे पहले रविवार को राज्य में संक्रमण के 60 नए केस सामने आए। इसमें 39 जयपुर के रामगंज इलाके के हैं। रविवार को जयुपर में भी  82 साल के संक्रमित बुजुर्ग की मौत हो गई थी।

राजस्थान के 22 जिलों में कोरोना, सबसे ज्यादा 102 जयपुर में 
राजस्थान के 33 में से 22 जिलों में सोमवार दोपहर तक कोरोना के केस मिल चुके हैं। सबसे ज्यादा जयपुर में 102 (2 इटली के नागरिक) पॉजिटिव मिल चुके हैं। जोधपुर 56 (इसमें 35 ईरान से आए), भीलवाड़ा में 27, झुंझुनूं में 23, टोंक में 18, चूरू में 10, प्रतापगढ़ में 2, डूंगरपुर में 5, अजमेर में 5, अलवर में 5, बीकानेर में 10, उदयपुर में 4, भरतपुर में 5, दौसा में 6, बांसवाड़ा में 2, पाली में 2, कोटा, जैसलमेर, करौली, नागौर, धौलपुर और सीकर में एक-एक संक्रमित मिला है।

अब तक 6 लोगों की मौत
राजस्थान में कोरोना से अब तक 6 लोगों की मौत हुई है। इनमें दो भीलवाड़ा, दो जयपुर, एक बीकानेर और एक कोटा में हो चुकी है। भीलवाड़ा में पहली मौत 73 वर्षीय बुजुर्ग की हुई थी। उसे कई अन्य गंभीर बीमारियां भी थीं। डायलिसिस पर था। दूसरी मौत भी भीलवाड़ा में एक 60 साल के व्यक्ति की हुई। उसकी भी तबीयत ठीक नहीं थी। तीसरी मौत अलवर के रहने वाले 85 साल के बुजुर्ग की जयपुर में हुई। उन्हें ब्रेनहैमरेज हुआ था। चौथी मौत बीकानेर में 60 साल की महिला की हुई। वहीं पांचवी मौत जयपुर में 82 साल के बुजुर्ग की हुई। छठी मौत कोटा में एक 60 साल के बुजुर्ग की हुई। उन्हें निमोनिया की शिकायत थी।

लॉकडाउन नहीं बढ़ा तो शुरू हो जाएंगी लंबी दूरी की ट्रेनें, जोनल रेलवे को कोच और इंजन तैयार करने के निर्देश

कोरोना के कारण देशभर में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है। अभी यह आगे बढ़ेगा या नहीं, इसको लेकर असमंजस है, लेकिन रेलवे ने लॉकडाउन के बाद ट्रेन संचालन को लेकर अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन (सीआरबी) ने इस संबंध में सभी जोनल रेलवे के जीएम और मंडलों के डीआरएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर बैठक की। इसमें सभी जोनल रेलवे और मंडल को अपने-अपने कोच और इंजनों की फाइनल एग्जामिनेशन करने को कहा है। ताकि 14 अप्रैल के बाद ट्रेनों का संचालन चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जा सके। रेलवे बोर्ड के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर (कोचिंग) ने अब सभी जोनल रेलवे से उनके कोचों की पोजिशन मांगी है। साथ ही निर्देश भी दिए हैं कि 15 से ट्रेन चलाने के लिए अपनी तरफ से तैयारी पूरी कर लें।

रैपिड टेस्टिंग किट्स कोविड-19 को मंजूरी, 3 मिनट में ही रिपोर्ट

कोरोना मरीजों का पता लगाने के लिए अस्पतालों पर टेस्ट को लेकर दबाव है। इस बीच, आइसीएमआर ने रैपिड टेस्टिंग किट्स कोविड-19 को मंजूरी दे दी है। अब कोरोना जांच दो से 3 मिनट में संभव हो सकेगी। इस किट काे मंजूरी के बाद संदिग्ध मरीजों की जांच की संख्या भी 20 फीसदी तक बढ़ सकती है। यह किट अभी मेडिकल स्टोरों पर उपलब्ध नहीं होगी। जिन अस्पतालों में कोरोना वायरस की जांच हो रही है या जिन्हें सरकार ने अधिकृत किया है। वहीं पर यह किट उपलब्ध होगी। रैपिड टेस्टिंग किट से खून की एक बूंद से जांच हो जाएगी। राजस्थान में जांच की रफ्तार बढ़ जाएगी। 7.5 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश में शुक्रवार तक 9 हजार सैंपल की ही टेस्टिंग हुई है, जबकि 5.1 करोड़ की आबादी वाले दक्षिणी कोरिया ने 4.31 लाख जांचें की थी।