ALL Rajasthan
राजस्थान में मॉडिफाई लॉकडाउन -गहलोत बोले- नियम पहले की तरह ही लागू, रियायत आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने के लिए
April 20, 2020 • Rajkumar Gupta

जयपुर. राजस्थान में 20 तारीक से मॉडफाई लॉकडाउन लागू कर दिया गया। वही सभी सरकारी दफ्तर भी खोले गए। इस दौरान चुनिंदा स्टाफ ही सरकारी दफ्तरों में पहुंचा। सोमवार सुबह गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि हम आज से राजस्थान में मॉडिफाई लॉकडाउन लागू कर रहे हैं। सभी से मेरी अपील है कि घरों के अंदर ही रहें और बाहर जाने से बचें। नागरिकों के लिए लॉकडाउन नियम पहले की तरह ही लागू हैं। प्रतिबंधों को कम करने का निर्णय सीमित और चरणबद्ध तरीके से आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने के लिए है।

गहलोत ने लिखा कि कोरोना का खतरा बना हुआ है। जिससे लड़ाई जारी है। बाहर निकलते वक्त मास्क पहनना हर किसी के लिए अनिवार्य है। सुरक्षा बनाए रखें। बार-बार हाथ धोते रहें। कृपया सड़कों पर थूकें नहीं। हमें सभी सावधानी बरतने की जरूरत है।

उन्होंने लिखा कि राज्य सरकार लोगों की जान बचाने के लिए हर संभव कोशिश कर रही है। लोगों को आवश्यक वस्तुओं को प्राप्त करने में कोई कठिनाई न हो। बीमार लोगों को अस्पताल में उचित देखभाल मिल सके। हम आपके लिए हर वक्त उप्लब्ध हैं।

एक तिहाई कर्मचारियों की आवाजाही रोकी गई

बता दें कि रविवार देर रात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि मोडिफाइड लॉकडाउन में जिलों में और सचिवालय में विभागों के सेक्रेटरी, डिप्टी सेक्रेटरी व हेड ऑफ द डिपार्टमेंट स्तर तक के अधिकारी और उनका निजी स्टाफ ही आएगा। अभी एक तिहाई कर्मचारियों की आवाजाही रोकी गई है। जरूरत पड़ने पर किसी भी कर्मचारी काे बुलाया जा सकता है। इस संबंध में कार्मिक विभाग की प्रमुख सचिव रोली सिंह की ओर से नए दिशा निर्देश जारी किए गए। 

टोल टैक्स शुरू किए गए-वहीं देर रात से नेशनल हाइवे पर टोल टैक्स शुरू कर दिए गए। जो करीब 26 दिनों से बंद पड़े थे। 

नहीं खुलीं अधिनस्थ अदालतें-प्रदेश में सोमवार को अदलातें नहीं खुलीं। हाईकोर्ट प्रशासन ने प्रदेश की सभी अधिनस्थ अदालतों को रोजाना सुबह 10:00 से शाम 5:00 बजे तक खोलने का आदेश वापस ले लिया है। हाईकोर्ट प्रशासन ने इस संबंध में अधिनस्थ अदलातों को लेकर संशोघित आदेश जारी किया। अभी पहले के अनुसार ही कोर्ट में सुनवाई होगी। फिलहाल कुछ कोर्ट ही अर्जेंट मुकदमों की सुनवाई कर रही हैं। अभी व्हाट्सएप कॉलिंग से ही जरूरी मामलों की सुनवाई की जा रही है। उल्लेखनीय है कि राज्य सहित देशभर में कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन चल रहा है।