ALL Rajasthan
राजस्थान:मॉडिफाइड लॉकडाउन- बाहर निकले लोग तो एसएचओ ने हाथ जोड़कर घर जाने के लिए कहा, ज्यादातर औद्योगिक इकाइयां भी बंद रही
April 20, 2020 • Rajkumar Gupta


जयपुर के राजापार्क क्षेत्र में लोगों से हाथ जोड़कर घर जाने की अपील करते एसएचओ। जयपुर के राजापार्क क्षेत्र में लोगों से जयपुर. राजस्थान में सोमवार को मॉडिफाइड लॉकडाउन का असर देखने के लिए मिला। जहां कुछ लोग जयपुर के राजापार्क क्षेत्र में बिना वजह घूमते नजर आए। जब पुलिस ने उनसे परमीशन के बारे में पूछा तो उनके पास किसी तरह का पेपर नहीं मिला। इस दौरान एसएचओ अरुण माच्या ने हाथ जोड़कर लोगों से घर जाने की अपील की। वहीं विश्वकर्मा इंडस्ट्रियल एरिया में भी मार्ग बंद रहे।

मॉडिफाइड लॉकडाउन में हाईवे पर स्थित ढाबों को भी खोलने की कवायद शुरू की गई है। वहीं पहले दिन हाईवे पर लगभग सभी ढाबे बंद नजर आए। इसके अलावा सभी रेस्टोरेंट भी बंद रहे। खंडेलवाल ढाबे के संचालक मनोज खंडेलवाल के मुताबिक आज शुरुआत हुई है। सामान भी लेकर आ गए हैं। अब 21 से ढाबा शुरू किया जाएगा। जिसमें ऑनलाइन सर्विस के अलावा टेक अवे सुविधा शुरू की जाएगी।

राजस्थान बोर्ड का ऑफिस खुला

अजमेर में राजस्थान बोर्ड में आज कामकाज का पहला दिन रहा। करीब एक महीने बाद कार्यालय खुला। बोर्ड अध्यक्ष डॉक्टर जारोली ने शेष पेपरों के आयोजन को लेकर संभावनाओं व तैयारी को लेकर बोर्ड अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया ।

एसीएस उद्योग ने फैक्ट्रियां खोलने के आदेश दिए, कलेक्टर ने मना किया

वीकेआई एसोसिएशन पूर्व अध्यक्ष जगदीश सोमानी ने बताया कि जिन फैक्ट्रियों के अंदर लेबर रहती है वो काम शुरू कर सकते हैं। विभाग ने ऑर्डर भी निकाल दिए कि सारे औद्योगिक इकाइयां शुरू होंगे। जिसके लिए बैरिकेडिंग भी कर दी गई। जिससे बाहर के आदमी की मूवमेंट नहीं हो। जिसके बाद कलेक्टर ने रात को सीधे बोल दिया कि केवल जरूरत के सामान के ही उद्योग ही शुरू होंगे। सोमानी ने बताया कि एसीएस उद्योग ने पहले गाइडलाइन जारी कर दी कि सभी उद्योग शुरू होंगे। जिसके बाद कलेक्टर ने रात को 12 बजे मना कर दिया। कलेक्टर को लिखा तो उन्होंने कहा कि वो इसकी इजाजत नहीं देंगे।