ALL Rajasthan
शाहिद संग सेक्स पर ये बोल पड़ी थीं मीरा राजपूत, जानें ऐसी स्थिति में आप फंसे तो क्या करें
April 18, 2020 • Rajkumar Gupta

मीरा राजपूत अपने बोल्ड बयानों के लिए जानी जाती हैं। सवाल चाहे जो हो वह उसका बेबाकी से जवाब देती हैं और कई बार ऐसी बातें बोल जाती हैं कि उनके पति शाहिद कपूर तक शरमा जाते हैं। कुछ ऐसा ही तब हुआ था जब ये दोनों सितारे एक टीवी चैट शो में शरीक हुए थे और मीरा ने सेक्स को लेकर बोल्ड खुलासा कर दिया था।
सेक्स में शाहिद...

मीरा ने बातों-बातों में बताया था कि जब सेक्स की बात आए तो शाहिद कपूर पूरी तरह से कंट्रोल फ्रीक हैं। यह सुनते ही शाहिद का चेहरा शर्म से लाल हो गया। वैसे इस दौरान मीरा ने और भी कई ऐसी बातें कहीं जिन्हें सुन होस्ट तक शर्माने लगा। यह स्थिति तो टीवी पर थी इसलिए टीआरपी के लिए इसे ऐसे ही जाने दिया गया और किसी ने इसका कोई इशू भी नहीं बनाया। लेकिन आम जिंदगी में पत्नी का ज्यादा आउटस्पोकन होना न सिर्फ उनके खुद के लिए बल्कि पति के लिए भी परेशानी बन सकता है। तो ऐसे में क्या किया जाए, चलिए जानते हैं।
शाहिद जैसा रिऐक्शन है बेस्ट

मीरा ने जब सेक्स को लेकर बात की तो शाहिद ने न तो कोई बड़ा रिऐक्शन दिया और न ही उन्हें टोका। यही अप्रोच रियल लाइफ में भी पति को अपनानी चाहिए। पत्नी को सबके सामने टोकने से बचें, नहीं तो वह इस बात को अपने आत्म-सम्मान पर ले सकती हैं। अगर आपको लगता है कि पत्नी ने जो कहा वह नहीं कहना चाहिए था, तो उस स्थिति में उनसे तब बात करें जब आप दोनों अकेले हों।
बात को डायवर्ट करने की कोशिश

अगर मान लीजिए कि टॉपिक खत्म ही नहीं हो रहा तो पत्नी का ध्यान कहीं और डायवर्ट करने की कोशिश करें। अगर यह काम नहीं आता है तो आप बीच में इन्वॉल्व होकर बातचीत को ही नया मोड़ दें। अगर यह भी फेल हो जाए तो जिससे आपकी पत्नी बात कर रही है उसे इशारा करें कि यह टॉपिक आपको कितना अनकंफर्टेबल कर रहा और उन्हें बातें रोकने का इशारा करें।
नेगेटिव की जगह रखें पॉजिटिव अप्रोच

तुम्हारे कहने से ये हो जाएगा... वो हर्ट हो जाएगा... लोग क्या सोचेंगे... इस तरह की बातें करने की जगह पत्नी को यह समझाएं कि आउटस्पोकन होने पर उनकी इमेज को कितना नुकसान हो रहा है। यह बात साफ तौर पर कहें कि वह जैसी हैं वैसी ही आपको पसंद हैं, लेकिन दूसरों के सामने उन्हें थोड़ा सा कंट्रोल करना चाहिए क्योंकि आप नहीं चाहते कि ऐसी स्थिति बने जिसमें वो हर्ट हों।
इमोशन न आए काम तो प्रैक्टिकल बातें ही सही

पत्नी के आउटस्पोकन नेचर के नुकसान के बारे में उन्हें अहसास दिलाने में जब इमोशन्स काम न आएं तो प्रैक्टिकल अप्रोच लें। उन्हें ऐसे एग्जाम्पल दें जिससे वह समझ सकें कि वाकई इस तरह बोलने पर उन्हें ही नुकसान होगा। उदाहरण के लिए आप उन्हें यह कह सकते हैं कि बिना सोचे बोलने की आदत के कारण अगर उन्होंने कभी बॉस के सामने कुछ कह दिया तो इस वजह से वह कितनी बड़ी मुसीबत में पड़ सकती हैं। इस एग्जाम्पल को वह जरूर समझेंगी।
परिवार और दोस्तों की लें मदद

ऐसे लोग जो पत्नी के करीब हैं जैसे परिजन और बेस्ट फ्रेंड्स उन्हें पूरी स्थिति बताएं और पत्नी को समझाने के लिए कहें। कई बार यही अप्रोच सबसे सही रहती है क्योंकि मान लीजिए पति ने समझाया और पत्नी बुरा मान गई तो घर का माहौल ही खराब हो जाएगा। वहीं कजिन्स और दोस्तों से वह नाराज हो भी जाएं तो वे लोग पत्नी को मना भी लेंगे।