ALL Rajasthan
श्रीमिकों की सुरुक्षा का ध्यान रखा जाए; नरेगा कामों का निरीक्षण करने पहुंचे उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने दिए निर्देश
April 22, 2020 • Rajkumar Gupta

चाकसू. उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बुधवार को चाकसू के कुम्हारियावास, तितरिया पंचायत में चल रहे नरेगा कार्यों का निरीक्षण किया। सरकार ने मॉडिफाई लॉकडाउन में ग्रामीणों को नरेगा के तहत काम देने की शुरुआत की है जिससे उन्हें आर्थिक सम्बल मिल सके। सरकार ने मनरेगा की मजदूरी भी बढ़ाकर 220 रुपए प्रतिदिन कर दी है। 
 
पायलट ने इस दौरान निर्देश दिए कि नरेगा में काम करने वाले श्रमिकों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाय तथा उनके लिए मास्क सैनिटाइजर, साबुन की व्यवस्था हो। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही काम हो। उन्होंने नरेगा काम वाले स्थानों पर सुविधाओं का बयौरा लिया। उन्होंने वहां उपलब्ध कराए गए मास्क, सैनिटाइजर, साबुन, दवाई तथा अन्य सामान की जांच की। 

महिला श्रमिकों ने काम मिलने पर खुशी जताई

पायलट ने महिला श्रमिकों से बात की और उनसे जानकारी ली कि पर्याप्त सुविधा समय पर मिल रही है या नहीं। इस दौरान महिला श्रमिकों ने काम मिलने पर खुशी जताई। राज्य में 20 अप्रैल से मॉडिफाइडन लॉकडाउन शुरू होते ही ग्रामीण क्षेत्रों में उद्योग-धंधों सहित कई काम शुरू हो गए हैं। कोरोना वायरस के कारण इन सभी कामों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है। मनरेगा मजदूरों ने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क भी पहना। 

मनरेगा की मजदूरी बढ़ाकर की 220 रुपए प्रतिदिन

राजस्थान में महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत मजदूरी दर 199 रु. से बढ़ाकर 220 रु. प्रतिदिन की गई है। मेट एवं कारीगर के लिए भी मजदूरी दर को 213 रु. से बढ़ाकर 235 रु. प्रतिदिन किया जा रहा है। डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने बताया कि मजदूरी दर की बढ़ोतरी से कोरोना लॉकडाउन के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को आर्थिक संबल मिलेगा।

कोरोना से उत्पन्न विशेष परिस्थितियों एवं गर्मी के मौसम को देखते हुए महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत कार्य समय को परिवर्तित किया गया है। परिवर्तित समय सुबह 6 बजे से दोपहर 1 बजे तक निर्धारित किया गया है। इससे सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने में भी मदद मिलेगी। नरेगा कार्यस्थल पर मेट एवं श्रमिकों सहित सभी को मास्क पहनकर आने, श्रमिकों के दिन में चार बार साबुन से हाथ धुलवाने तथा कार्य एवं भोजन अवकाश के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की पालना सुनिश्चित करवाने के निर्देश जारी हो चुके हैं।