ALL Rajasthan
सूरजगढ़ में नकली घी प्रकरण-जांच बदलकर प्रशासन ने पल्ला झाड़ा-प्रशासन की मिलीभगत की वजह से आरोपी आज भी पुलिस पकड़ से बाहर
May 3, 2020 • Rajkumar Gupta


सूरजगढ़। देश जहां  वैश्विक महामारी  कोरोना से जूझ रहा है स्वास्थ्य के प्रति देश सजग है हर व्यक्ति को उचित चिकित्सा सुविधा मुहैया करवाने में देश की आर्थिक स्थिति दिन प्रतिदिन कमजोर होती जा रही है वहीं कुछ  असामाजिक तत्व नकली घी बना स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं ।

प्रशासन की मिलीभगत की वजह से आरोपी आज भी पुलिस पकड़ से बाहर है एवं  धड़ल्ले से नकली घी का कारोबार कर रहे हैं इसी संदर्भ में आज रविवार को आदर्श समाज समिति इंडिया के तत्वाधान में मनजीत सिंह तंवर की अध्यक्षता में सूरजगढ़ में नकली की प्रकरण को लेकर कार्यकर्ताओं की मीटिंग हुई।
 नकली घी प्रकरण में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने व जाँच में अभी तक कोई ठोस कार्यवाही नहीं होने पर कार्यकर्ताओं ने असंतोष जताया और उच्च स्तरीय जांच की मांग उठाई। मनजीत सिंह तवर ने बताया कि गत दिनों सूरजगढ़ में अवैध नकली देसी घी बनाने की फैक्ट्री का खुलासा हुआ था। फैक्ट्री के मालिक काले कारोबारी नरेश गुड़गुड़ी को लाखों के नकली देसी घी के साथ गिरफ्तार किया था। आरोपी की निशानदेही पर सूरजगढ़ मंडी में श्याम किराना स्टोर व मुरारी हलवाई की दुकान पर छापा मारा गया। श्याम किराना स्टोर वालों ने कार्रवाई की भनक लगते ही दुकान बंद कर दी और मौके से फरार हो गये। आरोपी नरेश गुड़गुड़ी ने कई व्यापारियों के नाम का खुलासा किया था। मुरारी हलवाई की दुकान पर बहुत बड़ी मात्रा में नकली देसी घी बरामद हुआ। लेकिन अभी तक मुरारी हलवाई को गिरफ्तार नहीं किया गया है। जबकि सूरजगढ़ मंडी के अन्य व्यापारी भी नकली घी के काले कारोबार में सलंग्न थे। मंडी के किराना स्टोर द्वारा बड़े स्तर पर नकली घी की सप्लाई हो रही थी। झुंझुनू जिले के कई शहरों के अलावा सीमावर्ती हरियाणा राज्य में भी नकली घी की सप्लाई का कारोबार हो रहा था। नकली घी का इतना बड़ा भंडाफोड़ होने के बाद पुलिस प्रशासन द्वारा अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है। सिर्फ एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है जबकि इसमें बहुत सारे काले कारोबारी सम्मिलित हैं।

 नकली घी प्रकरण मामले में शिथिलता बरती जा रही थी। इसलिए आदर्श समाज समिति इंडिया द्वारा इस प्रकरण की जांच बदलवाने की मांग की गई। अब इस प्रकरण की जाँच बदलकर पिलानी थाना अधिकारी को सौंपी गई है। प्रकरण में तत्परता से कार्रवाई करवाने और आरोपियों को शीघ्रता से गिरफ्तार करवाने को लेकर समिति का एक डेलिगेशन जांच अधिकारी से मुलाकात करेगा। अगर इस प्रकरण में जांच अधिकारी द्वारा जल्दी ही कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जाती है तो सरकार को उच्च स्तरीय जांच के लिए पत्र लिखा जायेगा। क्षेत्र के लोगों के साथ बहुत बड़ा विश्वासघात हुआ है। यह लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ा मुद्दा है। इसमें किसी तरह की कोई कोताही नहीं बरतनी दी जायेगी। आदर्श समाज समिति इंडिया के अध्यक्ष धर्मपाल गांधी ने कहा कि क्षेत्र में लंबे समय से इतने बड़े नकली देसी घी का कारोबार बिना प्रशासन की सहमति से संभव नहीं हो सकता है। इसमें जरूर भ्रष्ट अधिकारियों की मिलीभगत रही है। नकली घी की फैक्ट्री का भंडाफोड़ होने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग व जिले के फूड इंस्पेक्टर या प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा कोई बड़ी कार्रवाई नहीं की गई है।जबकि नकली घी और मिलावट का सामान बेचने वाली दुकानों को सीज किया जाना चाहिए था। मामले की उच्चस्तरीय जांच के लिए जिला कलेक्टर को लिखा जायेगा। अगर इस मामले में प्रशासन द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नहीं की जाती है तो आंदोलन की रणनीति तय की जायेगी। मीटिंग में वैध जय प्रकाश स्वामी, राय सिंह शेखावत, ओमप्रकाश भड़िया, अशोक स्वामी, धर्मपाल गांधी, मनजीत सिंह तंवर, विकास कुमार,  प्रताप सिंह, अशोक कुमावत आदि अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।