ALL Rajasthan
तस्वीरों में राजस्थान लॉकडाउन / हवामहल को सैनेटाइज किया, धौलपुर में कलेक्टर ने सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए खरीदी सब्जियां
March 31, 2020 • Rajkumar Gupta

जयपुर. कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए देश में 21 दिन का लॉकडाउन है। राजस्थान में तमाम कोशिशों के बाद भी संक्रमण के केस बढ़ते जा रहे हैं। यहां मंगलवार को 14 नए कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इनमें 10 जोधपुर के जबकि चार अन्य झुंझुनू, अजमेर, डूंगरपुर और जयपुर का है। राज्य में मंगलवार शाम तक संक्रमितों की संख्या 93 तक पहुंच गई। संक्रमण का केस बढ़ने के साथ ही लोगों का खौफ और पुलिस की सख्ती बढ़ती जा रही है। तस्वीरों में देखिए 21 दिन के लॉकडाउन का सातवां दिन-

हनुमानगढ़ में लॉकडाउन के बीच पुलिस ने तीन ट्रॉले जब्त किए। इनमें 72 लोग सवार थे, जो कि अपने गांव जा रहे थे। पुलिस ने ट्रॉले चालकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। वहीं 72 लोगों के खाने और रहने की व्यवस्था की गई है।

धौलपुर में लॉकडाउन का पालन कराने को लेकर पुलिस सख्त है। घर से बाहर निकल रहे लोगों से पूछताछ की जा रही। सही और वाजिब कारण न बता पाने पर लोगों को वापस घर भेजा रहा है।

भीलवाड़ा में संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए तीन से 13 अप्रैल तक महा कर्फ्यू लगाने की घोषणा की गई है। मंगलवर से इसकी तैयारियां शुरू हो गई है। यहां हर कॉलोनी की सभी सीमाएं सील की जा रही हैं। राजस्थान में भीलवाड़ा कोरोना का एपिसेंटर बना गया है। यहां अब तक 26 संक्रमित मिल चुके हैं।

धौलपुर के कलेक्टर आरके जयसवाल मंगलवार सुबह सब्जी मंडी पहुंचे। यहां सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो करते हुए उन्होंने दुकानदारों से सब्जी खरीदी। इस दौरान दुकानदारों ने कलेक्टर को बताया कि रास्ते में पुलिसवाले डंडे मारते हैं। कलेक्टर ने तुरंत सभी को आई कार्ड बनवाने का आश्वासन दिया।  उन्होंने कहा कि यह अभी लंबा चलेगा इसलिए हर परिस्थितियों से सहयोग करें।

जयपुर में लॉकडाउन के बाद भी घर जाने के लिए पलायन कर रहे मजदूर। सरकार कह चुकी है जो जहां हैं वहीं रहे। लेकिन रोटी की चिंता में अब भी कुछ मजदूर पैदल ही घर के लिए रवाना हो रहे हैं।

जयपुर के शाहपुरा इलाके में लॉकडाउन में बेवजह बाहर निकले युवकों को एसडीएम ने उठक बैठक लगवाई। फिर उन्हें घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत देकर भेज दिया।

बस्सी उपखंड क्षेत्र में स्थित भड़ाना के पास जयपुर दौसा की सीमा को पूरी तरह सील कर दिया है। बस्सी और दौसा पुलिस की ओर से आवश्यक वाहनों को ही आवगमन के लिए संबंधी दस्तावेज देखकर जाने दिया जा रहा है।