ALL Rajasthan
उत्‍तर कोरिया: अटकलें खत्‍म, सामने आए तानाशाह किम जोंग उन, साए की तरह साथ रहीं बहन
May 2, 2020 • Rajkumar Gupta


उत्‍तर कोरिया के तानाशाह क‍िम जोंग उन के स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर पिछले करीब 20 दिन से चल रहीं अटकलें खत्‍म होती दिख रही हैं। शुक्रवार को मजदूर दिवस पर तानाशाह किम जोंग उन एक फर्टिलाइजर की फैक्‍ट्री के उद्घाटन कार्यक्रम में दिखाई दिए। यह फैक्‍ट्री उत्‍तर कोरिया के दक्षिण पूर्वी कस्‍बे सुनचिआन में स्थित है। इस दौरान किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग भी साए की तरह से उनके साथ मौजूद रहीं।
किम जोंग उन की तस्‍वीरों में दिखा 1 मई

उत्‍तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए की ओर से जारी तस्‍वीरों में तानाशाह किम जोंग उन को फैक्‍ट्री के अंदर रिबन काटते हुए और उसका निरीक्षण करते हुए दिखाया गया है। केसीएनए ने कहा कि इस दौरान वहां मौजूद हजारों लोगों ने अपने नेता का जोरदार स्‍वागत किया। एक तस्‍वीर में बहुत खूबसरती से यह दिखाने की कोशिश की गई है कि यह कार्यक्रम 1 मई को हुआ है। हालांकि इन तस्‍वीरों की सत्‍यता की स्‍वतंत्र पुष्टि नहीं हो पाई है।
किम जोंग उन के मौत की उड़ी थी अफवाह

तानाशाह किम जोंग उन के स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर पिछले 20 से अफवाहों का बाजार गरम है। जापान और हांगकांग से आई कुछ रिपोर्टों में दावा किया गया था कि हार्ट सर्जरी के बाद किम जोंग उन की मौत हो गई है। हालांकि दक्षिण कोरिया ने कहा था कि किम जोंग उन जिंदा हैं। किम जोंग के स्वास्थ्य को लेकर रहस्य बना हुआ था। इसकी सबसे बड़ी वजह यह थी कि वह 11 अप्रैल के बाद सरकारी मीडिया में नहीं दिखाई दिए हैं। बताया जाता है कि इसके एक दिन बाद ही उनका ऑपरेशन हुआ था।
किम जोंग के लापता होने पर यह बोले थे डोनाल्‍ड ट्रंप

दरअसल, सबसे पहले अमेरिकी समाचार चैनल सीएनएन ने दावा किया था कि किम जोंग उन जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। इसके बाद बाद दुनियाभर में अफवाहों का दौर शुरू हो गया था। एक दावे में कहा गया तक कह दिया गया था कि किम जोंग मिसाइल टेस्‍ट के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। जापान के गेंदई बिजनस की एक रिपोर्ट के मुताबिक उत्‍तर कोरिया की सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी ने किम को मंजूरी और हस्ताक्षर के लिए कुछ प्रस्ताव भेजे थे लेकिन इनसे जुड़े दस्तावेज वापस नहीं आए हैं। इसी दौरान अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और दक्षिण कोरिया का दावा है कि वे जानते हैं कि किम कहां हैं।
दादा की जयंती पर आयोजित समारोह में शामिल नहीं हुए थे किम

किम ने अपने दादा किम इल-सुंग की जयंती पर आयोजित समारोहों में हिस्सा नहीं लिया था और तभी से उनके बारे में कई तरह के कयास लगाए जा रहे थे। यह दावा भी किया गया है कि किम का इलाज करने के लिए फरवरी के मध्य में जर्मनी के डॉक्टरों ने उत्तर कोरिया का दौरा किया था। इससे पहले फ्रांस से डॉक्टरों की एक टीम भेजने का अनुरोध किया गया था। ऐसी खबरें आई थीं कि चीन के डॉक्‍टरों का दल भी किम जोंग उन के इलाज के लिए उत्‍तर कोरिया पहुंचा था।
बहन के उत्‍तराधिकारी बनने की उड़ी थी अफवाह

किम के बीमार होने की अटकलों के बीच दावा किया गया था कि उनकी छोटी बहन किम यो-जोंग ने सत्ता संभाल ली है। दक्षिण कोरिया की नैशनल एसेंबली रिसर्च सर्विसेज का कहना था कि किम की बहन कुछ दिनों से अपने अधिकारों का इस्तेमाल कर रही हैं। उधर, प्योंगयांग में एक सूत्र ने डेली एनके से कहा था कि किम यो-जोंग की सत्ता अपने हाथ में लेने की कोई गुंजाइश नहीं है क्योंकि उन्हें असली उत्तराधिकारी नहीं माना जाता है। शुक्रवार को किम जोंग उन के साथ उनकी बहन किम यो जोंग भी दिखाई दीं।